व्यापारिक बैंक के कार्य का वर्णन कीजिए (Describe The Function Of A Commercial Bank)

व्यापारिक बैंक के कार्य का वर्णन कीजिए (Describe The Function Of A Commercial Bank) - यदि आप स्टुडेंट है तो यह सवाल आपसे अवश्य ही पुंछे जा सकते है । दोस्तों शायद आपको पता होगा कमर्शियल बैंक जिसे व्यापारिक बैंक, व्यावसायिक बैंक या वाणिज्यिक बैंक कहा जाता है हमारें देश भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के व्यापारिक बैंक, निजी क्षेत्र के व्यापारिक बैंक और विदेशी क्षेत्र के व्यापारिक बैंक मौजूद है । सबसे पहले व्यापारिक बैंकों के महत्व कि बात किया जाए तो किसी भी देश के आर्थिक विकास में व्यापारिक बैंक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है एवं व्यापारिक बैंक आज के वर्तमान समय में प्रत्येक आम नागरिको के लिए जरूरत बन गई है । आईयें विस्तार से Vyaparik Bank Ke Karya Ka Varnan करते हुए समझने की कोशिश करते है भारतीय अर्थ-व्यवस्था में व्यापारिक बैंकों की भूमिका क्या है । 



व्यापारिक बैंक के कार्य का वर्णन कीजिए (Describe The Function Of A Commercial Bank)
व्यापारिक बैंक के कार्य का वर्णन कीजिए (Describe The Function Of A Commercial Bank)




व्यापारिक बैंक किसे कहते? - What Is Commercial Bank In Hindi


व्यापारिक बैंक क्या है? - सरल शब्दों में संक्षेप में बात किया जाए तो व्यापारिक, व्यवसायिक या वाणिज्यिक बैंक उन वित्तीय संस्थाओ को कहा जाता है जो संस्था जनता के पैसे जमा स्वीकार और आवश्यकता परने पर ऋण उपलब्ध कराने के साथ साथ विभिन्न प्रकार से बैंकिंग सेवाए प्रदान करता है ।


व्यापारिक बैंक के प्रकार - Types Of Commercial Bank In Hindi



नोट:- सार्वजनिक क्षेत्र के व्यापारिक बैंक जिसे राष्ट्रीयकृत या सरकारी बैंक भी कहा जाता है, सार्वजनिक क्षेत्र के व्यापारिक बैंकों में 50% से अधिक का स्वामित्व सरकार का होता है, एवं निजी क्षेत्र के व्यापारिक बैंक यानि प्राइवेट बैंकों पर निजी लोगों का स्वामित्व, और विदेशी बैंक उन वित्तीय संस्थाओ को कहा जाता है जिसका मुख्यालय विदेश में स्थित है ।


व्यापारिक बैंक के कार्य - Functions Of Commercial Bank In Hindi


भारत में उपस्थित प्रत्येक व्यापारिक बैंक निम्नलिखित प्रकार के प्रमुख कार्य करते है-


  • 1. मुख्य कार्य
  • 2. गौण कार्य 
  • 3. सामाजिक कार्य


1. व्यापारिक बैंक के मुख्य कार्य - Main Functions Of Commercial Bank In Hindi


  • जमा स्वीकार करना
  • ऋण उपलब्ध कराना


जमा स्वीकार करना (Accepting Deposits)


सभी व्यापारिक बैंक अपना मुख्य कार्य में सबसे प्रथम जनता के धन को जमा स्वीकार और ऋण प्रदान करता है, जनता का पैसा जमा स्वीकार करने हेतु व्यापारिक बैंक निम्नलिखित प्रकार के खाता खोलने की सुविधाए देती है-




ऋण उपलब्ध कराना (Providing Credit)


व्यापारिक बैंको का मुख्य कार्य में जनता को ऋण उपलब्ध कराना भी होता है, इसके लिए व्यापारिक बैंकों द्वारा निम्नलिखित तरीके से उचित ब्याॅज दरों पर ऋण प्रदान किये जाते है-



नगद जमा की सुविधाए 


इस प्रकार के ऋण ग्राहकों को एक निश्चित जमानत के आधार पर निश्चित जमाराशि निकालने का अधिकार व्यापारिक बैंक द्वारा दिया जाता है, इस तरह के ऋण न्यूनतम दरों पर दिया जाता है ।


ओवरड्राप्ट की सुविधाए 


यह सुविधा व्यापारिक बैंक की ओर से चालु खाताधारक को दिया जाता है, ओवरड्राप्ट (Overdraft) के तहत खाताधारक अकाउंट में जमा पैसा से अधिक निकाल सकता है ।


अग्रिम ऋण की सुविधाए 


व्यापारिक बैंक द्वारा अग्रिम ऋण यानि पहले ग्राहकों के खाते में पैसा डाल देता है और तुरंत ब्याज लगाना चालु भी कर देता है ।


सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश


व्यापारिक बैंक सरकारी प्रतिभूतियों को खरीदने के लिए भी ऋण उपलब्ध करता है क्योंकि सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश करने की जोखिम नही रहता है ।



2. व्यापारिक बैंक के गौण कार्य - Secondary Functions Of Commercial Bank In Hindi


व्यापारिक बैंक अपने ग्राहकों के चेक, ब्याज आदि को Collect करने के साथ-साथ उसका भुगतान भी करता है।


व्यापारिक बैंक अपने ग्राहकों को लॉकर की सुविधा प्रदान देता है, जिसमें ग्राहक अपनी महत्वपूर्ण दस्तावेजों को रख सकता है ।


व्यापारिक बैंक विदेशी मुद्रा का विनिमय कर अंतराष्ट्रीय व्यापार को बढ़ाने का कार्य भी करता है।


व्यापारिक बैंक अपने ग्राहकों को वित्तीय संबंधित मामलों में सलाह देने का कार्य भी करता है।


व्यापारिक बैंक अपने ग्राहकों के लिए विभिन्न प्रकार की प्रतिभूतियों को खरीदने और बेचने का भी कार्य करता है।



3. व्यापारिक बैंक के सामाजिक कार्य - Social Work Of Commercial Bank In Hindi


सभी व्यापारिक बैंक पूंजी निर्माण करने का कार्य करता है जिससे देश के विकास में मदद मिलती है ।


व्यापारिक बैंक विभिन्न प्रकार के ऋण उचित ब्याज दरों पर आम जनता को उपलब्ध कराता है जिससे कि लोग अपनी जरूरतें आसानी पुरा कर सकते है ।



ये भी पढ़िए-


अनुसूचित बैंक क्या है?

गैर-अनुसूचित बैंक क्या है?

अनुसूचित बैंक कितने प्रकार के होतें हैं?

अनुसूचित और गैर-अनुसूचित बैंक में क्या अंतर है?

केंद्रीय बैंक और व्यापारिक बैंक में क्या अंतर है?

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post