हरित क्रांति के बाद कितने बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया?

हरित क्रांति के बाद कितने बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया? - यह सवाल अक्सर बैंकिंग परीक्षाओ में पुंछे जाते है यदि आप बैंकिंग की तैयारी कर रहे है तो आपको हरित क्रांति के बाद कितने बैंकों का राष्ट्रीयकरण हुआ था अवश्य ही पता होनी चाहिए । दोस्तों आजादी के बाद भारतीय कृषि क्षेत्र को सुधारने और अधिक उपजाऊ बनाने के लिए देश में हरित क्रांति की शुरुआत 1966-1967 में हुई थी और यह सफल भी रहा था, इसके बाद भारत सरकार ने बैंकिंग क्षेत्र को भी सुधारने का प्लान किया, यानि की आजादी के बाद सभी व्यावसायिक बैंक निजी बैंक के रूप में कार्य कर रही थे और केवल अपने फायदे के लिए पुंजीपतियो को ऋण उपलब्ध कर रहे थे यानि आम किसान, छोटें उद्योग क्षेत्र में निवेश करने में बैंकों को कोई दिलचस्पी नही थी, इसलिए तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी द्वारा हरित क्रांति के बाद 1969 में 14 बड़े निजी बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया एवं दूसरी बार प्रधानमंत्री राजीव गांधी द्वारा 1980 में 6 निजी बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया ताकि देश के छोटे किसानो, छोटे उद्योगों, छोटे व्यवसाय करने वाले व्यक्तियों एवं आम नागरिकों को न्यूनतम दर पर ऋण मुहैया हो और देश के विकास में तेजी आ सके । हरित क्रांति के बाद कौन-कौन से बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया आईयें अब उन सभी राष्ट्रीयकृत बैंकों के नाम जानतें है ।



हरित क्रांति के बाद कितने बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया?
हरित क्रांति के बाद कितने बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया?




प्रथम चरण 1969 में राष्ट्रीयकरण किये गए बैंकों की संख्या और नाम-


1. सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया


2. बैंक ऑफ इंडिया


3. पंजाब नेशनल बैंक


4. बड़ौदा बैंक 


5. देना बैंक


6. यूको बैंक


7. केनरा बैंक


8. यूनाइटेड बैंक


9. सिंडिकेट बैंक


10. यूनियन बैंक


11. इलाहाबाद बैंक


12. इंडियन बैंक


13. इंडियन ओवरसीज बैंक


14. बैंक ऑफ महाराष्ट्र



द्वितीय चरण 1980 में राष्ट्रीयकरण किये गए बैंकों की संख्या और नाम-


1. आंध्रा बैंक


2. कारपोरेशन बैंक


3. न्यू बैंक ऑफ इंडिया


4. ओरिएंटल बैंक ऑफ इंडिया


5. पंजाब एंड सिंध बैंक


6. विजया बैंक



वर्तमान में भारत में कुल राष्ट्रीयकृत बैंकों की संख्या


1955 में भारतीय स्टेट बैंक का राष्ट्रीयकरण और फिर हरित क्रांति के बाद 20 बैंकों का राष्ट्रीयकरण के उपरांत भारत में कुल राष्ट्रीयकृत बैंकों की संख्या 21 हो चुकी थी, परंतु सरकार द्वारा राष्ट्रीयकृत बैंकों को एक दूसरे में विलय भी किया गया है अभी वर्तमान में राष्ट्रीयकृत बैंकों की संख्या 12 हो चुकी है जिसका नाम निम्नलिखित प्रकार है- 


1. भारतीय स्टेट बैंक


2. पंजाब नेशनल बैंक


3. बैंक ऑफ बड़ौदा


4. केनरा बैंक 


5. यूनियन बैंक


6. इंडियन बैंक


7. बैंक ऑफ इंडिया


8. सेंट्रल बैंक


9. इंडियन ओवरसीज बैंक


10. पंजाब एंड सिंध बैंक


11. बैंक ऑफ महाराष्ट्र


12. यूको बैंक



ये भी पढ़िए-


बैंकों का राष्ट्रीयकरण क्या है?

बैंकों का सरकारीकरण क्या है?

स्टेट बैंक का राष्ट्रीयकरण कब किया गया?

रिज़र्व बैंक का राष्ट्रीयकरण कब किया गया?

भारत में बैंकों का राष्ट्रीयकरण कितनी बार किया गया?

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post