भारत में निजी बैंकों की सूची (List Of Private Sector Banks In India 2022)

भारत में निजी क्षेत्र के बैंकों की सूची (List Of Private Sector Banks In India 2022) जानने आयें है तो आपको भलीभांति पता होगा निजी बैंक या प्राइवेट बैंक उन वित्तीय संस्थाओ को कहा जाता है जिसपर निजी लोगों का स्वामित्व होता है एवं उन्ही लोगों द्वारा संचालित भी किए जाते है । वर्तमान समय की बात किया जाए तो भारत में निजी बैंक सरकारी बैंक के मुकाबले अपने ग्राहकों को जमा धन पर ज्यादा ब्याॅज देने के साथ-साथ हर तरह के ऋण (Loan) एवं बेहतर बैकिंग सेवाए प्रदान कर रही है । आईंये बिना देर किए जानते है हमारे भारत में निजी क्षेत्र के बैंक कौन-कौन सी है? सभी निजी बैंकों के नाम के साथ साथ जानने की कोशिश करेंगे प्राइवेट बैंकों में खाता खोलने के फायदे और सरकारी बैंक और प्राइवेट बैंक में क्या अंतर है?


भारत में निजी बैंको की सूची (List Of Private Sector Banks In India)
भारत में निजी बैंको की सूची (List Of Private Sector Banks In India)



ये भी पढे- भारत में विदेशी क्षेत्र के बैंको की सूची

ये भी पढे- भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक सूची




निजी बैंकों की सूची (List Of Private Sector Banks In India 2022)


निजी बैंक यानि भारत में प्राइवेट बैंक कौन-कौन सी है, प्राइवेट बैंकों के नाम लिस्ट के साथ-साथ भारत में प्राइवेट बैंकों के स्थापना और उसके मुख्यालय निम्नलिखित प्रकार है:-


1. एचडीएफसी बैंक (1994) मुंबई, महाराष्ट्र


2. ऐक्सिस बैंक (1993) मुंबई, महाराष्ट्र


3. बंधन बैंक (2015) पश्चिम बंगाल


4. सीएसबी बैंक (1920) त्रिशूर, केरल


5. यस बैंक (2004) मुंबई, महाराष्ट्र


6. सिटी यूनियन बैंक (1904) तमिल नाडु


7. डीसीबी बैंक (1930) मुंबई, महाराष्ट्र


8. धनलक्ष्मी बैंक (1927) त्रिशूर शहर, केरल


9. फेडरल बैंक (1931) अलुवा, कोच्चि


10. आईसीआईसीआई बैंक (1994) मुंबई, महाराष्ट्र


11. आईडीबीआई बैंक (1964) मुंबई, महाराष्ट्र


12. इंडसइंड बैंक (1994) पुणे, महाराष्ट्र


13. जम्मू और कश्मीर बैंक (1938) श्रीनगर


14. कर्नाटक बैंक (1924) कर्नाटक


15. करूर वैश्य बैंक (1996) तमिल नाडु


16. कोटक महिंद्रा बैंक (2003) मुंबई, महाराष्ट्र


17. नैनीताल बैंक (1922) उत्तराखंड


18. आरबीएल बैंक (1943) मुंबई, महाराष्ट्र


19. साउथ इंडियन बैंक (1929) त्रिशूर, केरल


20. तमिलनाडु मर्केंटाइल बैंक (1921) तमिलनाडु


21. आईडीएफसी फर्स्ट बैंक (2015) मुंबई, महाराष्ट्र




भारत में शीर्ष 5 प्राइवेट बैंको के नाम लिस्ट - Top Private Banks Name List In India)


यदि आप जानना चाहते है भारत में बेस्ट प्राइवेट बैंक कौन-कौन है तो आप नीचे देख सकते है भारत के टाॅप 5 प्राइवेट बैंक नाम लिस्ट जो दिन-प्रतिदिन संपत्ति में बढ़ोतरी के साथ साथ बहुत तेजी में अपना विस्तार करने मे जुटी है!


एचडीएफसी बैंक (HDFC Bank)


एचडीएफसी निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक है! एचडीएफसी बैंक कि टोटल संपत्ति रू. 816.02 बिलियन (US $ 11 बिलियन) है! और भारत में एचडीएफसी बैंक कि कार्यालय लगभग 427 से अधिक है, 5500 हजार से अधिक शाखाए, 12 हजार से अधिक एटीएम मशीने विभिन्न शहरो में संचालित किए जा रहे है एवं सभी ब्रांच में लगभग 1. 17 लाख से ज्यादा कर्मचारी कार्यरत है!


आईसीआईसीआई बैंक (ICICI Bank)


आईसीआईसीआई बैंक की स्थापना जुन 1994 ईस्वी वड़ोदरा में हुई थी वर्तमान समय में आईसीआईसीआई बैंक निजी क्षेत्र का दूसरा सबसे बड़ा बैंक बन चुकी है! आईसीआईसीआई बैंक के भारत में टोटल 4,882 ब्रांच और साथ ही 15,101 एटीएम उपस्थित है!


एक्सिस बैंक (Axis Bank)


एक्सिस बैंक भारत का तीसरा सबसे बड़ा निजी क्षेत्र के बैंक बन चुकी है! इसका मुख्यालय मुंबई, महाराष्ट्र में मौजूद है! "बढ़ती का नाम ज़िन्दगी" एक्सिस बैंक का टैगलाईन है!


येस बैंक (YES Bank)


अशोक कपूर और राणा कपूर द्वारा 2004 में यस बैंक लिमिटेड की स्थापना की गई थी! बहुत जल्द येस बैंक ने अपना विस्तार किया है और अभी निजी क्षेत्र का चौथा सबसे बड़ा बैंक बन गया है! यह बैंक मुख्य रूप से एक कॉर्पोरेट बैंक और खुदरा बैंक के रूप में चालू है!


आईडीबीआई बैंक (IDBI Bank)


IDBI का फुल फ़ॉर्म "इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट बैंक ऑफ इंडिया" है! शुरूआत में औद्योगिक क्षेत्र को बढ़ावा देने हेतू स्थापित हुआ था! लेकिन अब लोगो का पसंदीदा और विश्वसनीय बैंक बन गया है! इसलिए IDBI को निजी क्षेत्र के एक प्रमुख बैंको में गिना जाता है!



निजी क्षेत्र के बैंक से संबंधित कुछ अन्य सवाल 


आईये अब निजी क्षेत्र के बैंक से संबंधित कुछ अन्य जानकारी पर चर्चा करते है क्योंकि बहुत लोग जानना चाहते है!


प्राइवेट बैंक में खाता खोलने के फायदे


  • प्राइवेट बैंको में किसी भी तरह का खाता बड़े आसानी से तुरंत खोल दिया जाता है! आजकल ज्यादातर प्राइवेट सेक्टर के बैंक ऑनलाइन खाता खोलने की सुविधा दे रहे है! 


  • प्राइवेट बैंको में छोटे मोटे कामो के लिए ब्रांच के चक्कर नही काटने परते! पासबुक, चेकबुक और डेबिट कार्ड आर्डर करने पर सीधे आपके एड्रेस पर भेज देता है!


  • प्राइवेट क्षेत्र के बैंक सेविंग अकाउंट या अन्य प्रकार के किसी भी फिक्स डिपॉजिट रकम पर सरकारी बैंको की तुलना में ज्यादा ब्याज देते है!



सरकारी और प्राइवेट बैंक में क्या अंतर है?


  • सरकारी बैंको में सरकार का हिस्सेदारी होता है परंतु प्राइवेट बैंक पर निजी व्यक्ति का अधिकार होता है एवं निजी व्यक्ति द्वारा संचालित किये जाते है!


  • सरकारी बैंको के अपेक्षा निजी प्राइवेट बैंक अपने खाताधारक को जमा रकम पर ज्यादा से ज्यादा ब्याॅज और डिपॉजिट धन पर अधिक ब्याॅज देने वाली लुभावने ऑफर का पेशकश करते है!


  • निजी बैंको में बैंकिंग से संबंधित कार्य तुरंत निपटान कर दिया जाता है! यही काम कराने के लिए सरकारी बैंको में घंटो खड़ा रहना परता है!


  • सरकारी बैंक में पैसा जमा करना सुरक्षित माना जाता है! जबकि प्राइवेट बैंक ना चलने के स्थिति में कभी भी बंद हो सकता है और पैसा डूब सकता है!



भारत में निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक कौन सा है?


भारत की सबसे बड़ी प्राइवेट बैंक कौन सी है- 2021 कि बात किया जाए तो संपत्ति के मामले में एचडीएफसी बैंक भारत में निजी क्षेत्र का सबसे बड़ा बैंक है! एचडीएफसी बैंक किस कुल संपत्ति रू. 816.02 बिलियन (US $ 11 बिलियन) है! और भारत में एचडीएफसी बैंक कि कार्यालय लगभग 427 से अधिक है, 5500 हजार से अधिक शाखाए, 12 हजार से अधिक एटीएम मशीने विभिन्न शहरो में संचालित किए जा रहे है एवं सभी ब्रांच में लगभग 1. 17 लाख से ज्यादा कर्मचारी कार्यरत है ।


ये भी जानिए:-


भारत में कुल कितने राष्ट्रीयकृत बैंक है?

भारत में कुल कितने व्यापारिक बैंक है?

भारत में कुल कितने क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक है?

भारत में कुल कितने वाणिज्यिक बैंक है?

भारत में कुल कितने व्यावसायिक बैंक है?

भारत में कुल कितने विदेशी बैंक है?

भारत में कुल कितने प्रकार के बैंक है?

Post a Comment

Previous Post Next Post