भारत में कुल कितने राष्ट्रीयकृत बैंक है?

भारत में कुल कितने राष्ट्रीयकृत बैंक हैं? - यदि आप जानने आयें है वर्तमान में भारत में राष्ट्रीयकृत बैंकों की संख्या कितनी है तो शायद आपको पता होगा हमारे देश भारत में अनगिनत बैंक उपस्थित है और वर्तमान समय में प्रत्येक भारतीय नागरिक का किसी न किसी बैंक में अकाउंट अवश्य होता है फिर भी अधिकांश लोग नही जानते उनका अकाउंट किस प्रकार के बैंक में है । आईये विस्तार से राष्ट्रीयकृत बैंक के संबंध में बात करते हैं ताकि सभी लोगों को समझ में आ जाये राष्ट्रीयकृत बैंक किसे कहते हैं? भारत का राष्ट्रीयकृत बैंक कौन कौन सा है? और भारत का पहला राष्ट्रीयकृत बैंक कौन सा है? जानने के लिए संपूर्ण आर्टिकल अवश्य पढ़े-



भारत में कुल कितने राष्ट्रीयकृत बैंक है?
भारत में कुल कितने राष्ट्रीयकृत बैंक है?




राष्ट्रीयकृत बैंक किसे कहते हैं? - What Is Nationalized Bank In Hindi


जिन बैंको में सरकार की हिस्सेदारी होती है वे बैंक राष्ट्रीयकृत या सरकारी बैंक कहलातें है । सरल शब्दो में समझा जाए तो राज्य सरकार या केन्द्र सरकार द्वारा किसी निजी यानि प्राइवेट बैंको की शेयर पूंजी अधिग्रहण किया जाता है तो उस बैंक को राष्ट्रीयकृत घोषित कर देता है जिसे सार्वजनिक या सरकारी बैंक भी कहा जाता है ।



भारत के राष्ट्रीयकृत बैंकों की सूची 2021 - List of Nationalized Banks of India 2021


कुछ वर्ष पूर्व केन्द्र सरकार द्वारा राष्ट्रीयकृत बैंकों को एक-दूसरे में विलय किया गया है जिसके बाद वर्तमान में भारत में राष्ट्रीयकृत बैंकों की संख्या 12 रह चुकी है नीचे राष्ट्रीयकृत बैंकों की नाम लिस्ट नीचे देख सकते है:-


स्टेट बैंक ऑफ इंडिया- (राष्ट्रीयकरण)- 1956


सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया- (राष्ट्रीयकरण)- 1969


यूनियन बैंक ऑफ इंडिया- (राष्ट्रीयकरण)- 1969


इंडियन ओवरसीज बैंक- (राष्ट्रीयकरण)- 1969


पंजाब नेशनल बैंक- (राष्ट्रीयकरण)- 1969


बैंक ऑफ इंडिया- (राष्ट्रीयकरण)- 1969


बैंक ऑफ बड़ौदा- (राष्ट्रीयकरण)- 1969


केनरा बैंक- (राष्ट्रीयकरण)- 1969


बैंक ऑफ महाराष्ट्रा- (राष्ट्रीयकरण)- 1969


पंजाब एंड सिंद बैंक- (राष्ट्रीयकरण)- 1969


इंडियन बैंक- (राष्ट्रीयकरण)- 1969


यूको बैंक- (राष्ट्रीयकरण)- 1969



भारत का पहला राष्ट्रीयकृत बैंक कौन सा है?


सभी भारतीय बैंको का संचालक कहे जाने वाला RBI की स्थापना 1 अप्रैल 1935 में हुआ और स्वतंत्रता प्राप्ति के तुरंत बाद सबसे पहले रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का राष्ट्रीयकरण 1 जनवरी 1949 में किया गया और इसे केन्द्रीय बैंक की मान्यता भी दे दी गई उसके बाद 1 जुलाई 1955 में जन्मे SBI का राष्ट्रीयकरण 2 जून 1956 मे किया गया एवं अन्य 14 निजी बैंको का राष्ट्रीयकरण 19 जुलाई 1969 में हुआ जिसका नाम सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नैशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, देना बैंक, यूको बैंक, केनरा बैंक, यूनाइटेड बैंक, सिंडिकेट बैंक, यूनियन बैंक ऑफ इंडिया, इलाहाबाद बैंक, इंडियन बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक तथा बैंक ऑफ महाराष्ट्र शामिल था!


ये भी पढें - भारत का सबसे बड़ा बैंक कौन सा है?

ये भी पढें - भारत का सबसे पुराना बैंक कौन सा है?

Post a Comment

Previous Post Next Post