वाणिज्यिक बैंकों के मुख्य कार्यों की व्याख्या कीजिए

वाणिज्यिक बैंकों के मुख्य कार्यों की व्याख्या कीजिए? ये सवाल भी अक्सर प्रतियोगिता परीक्षाओ में अवश्य पुंछे जातें है । आईयें वाणिज्यिक बैंक के मुख्य कार्य क्या है इसपर विस्तार से बातें करने की कोशिश करते है । दोस्तों शायद आपको पता होगा वाणिज्य बैंक (Commercial Bank) जिसे वाणिज्यिक बैंक, व्यापारिक बैंक या व्यावसायिक बैंक कहा जाता है एवं भारत में सार्वजनिक क्षेत्र के वाणिज्यिक बैंक, निजी क्षेत्र के वाणिज्यिक बैंक, विदेशी क्षेत्र के वाणिज्यिक बैंक कार्यरत है । अब यदि वाणिज्यिक बैंक के प्रमुख कार्यों की बात किया जाए तो आपको याद रखना आवश्यक है प्रत्येक वाणिज्यिक बैंक मुख्य कार्य, गौण कार्य और सामाजिक कार्य करता है । चलिए बिना देर किए प्रश्न के अनुसार वाणिज्यिक बैंक के मुख्य कार्य का वर्णन करते है । यदि आप वाणिज्यिक बैंक के मुख्य कार्य के बारें में जानने आये है तो संपूर्ण आर्टिकल जरूर पढें ।


वाणिज्यिक बैंकों के मुख्य कार्यों की व्याख्या कीजिए
वाणिज्यिक बैंकों के मुख्य कार्यों की व्याख्या कीजिए




वाणिज्यिक बैंक किसे कहते? - What Is Commercial Bank In Hindi


वाणिज्यिक बैंक क्या है? - संक्षेप में बात किया जाए तो वाणिज्यिक बैंक उन वित्तीय संस्थाओ को कहा जाता है जो संस्था लोगों के धन को जमा स्वीकार करता है और जरूरत परने पर ऋण उपलब्ध कराने के साथ साथ विभिन्न प्रकार के बैंकिंग सेवाए देता है।



वाणिज्यिक बैंक के मुख्य कार्य (Main Functions Of Commercial Bank In Hindi)


भारत में मौजूद प्रत्येक वाणिज्यिक बैंक निम्नलिखित प्रकार के मुख्य कार्य करता है-


  1. जमा स्वीकार करना
  2. ऋण प्रदान करना


1. जमा स्वीकार करना (Accepting Deposits)


सभी वाणिज्यिक बैंक अपना मुख्य कार्य में सबसे प्रथम जनता के धन को जमा स्वीकार करता है, जनता का पैसा स्वीकार हेतु वाणिज्यिक बैंक आम नागरिकों को निम्नलिखित प्रकार के खाता खोलने की अनुमति देता है ।



बचत जमा खाता की सुविधा


वाणिज्यिक बैंक द्वारा बचत जमा खाता की सुविधाये खासकर आम नागरिकों के लिए देता है, आम नागरिक घरेलू खर्च के बाद शेष छोटी-मोटी रकम बचत खाता में जमा करने के उपरांत अपने धन पर ब्याज बना सकता है । बचत अकाउंट के लिए वाणिज्यिक बैंक द्वारा डेबिट कार्ड, चेकबुक, मोबाइल बैंकिंग, नेटबैकिंग जैसी सर्विस दी जाती है ।


चालू जमा खाता की सुविधा


वाणिज्यिक बैंक द्वारा चालू जमा खाता विजनेस मैन, कंपनी या अन्य प्रकार के संस्थाओ को ओपेन करने की सलाह देता है क्योंकि चालू जमा खाता में जितना चाहे उतना पैसा जमा और निकासी किया जा सकता है । वाणिज्यिक बैंक चालू खाते में जमा धन पर ब्याज नही देता है परंतु डेबिट कार्ड, चेकबुक, नेटबैकिंग जैसी सर्विस अवश्य देता है ।


सावधि जमा खाता की सुविधा


वाणिज्यिक बैंक सावधि जमा खाता में किसी भी व्यक्ति को एक निश्चित रकम निश्चित समय के लिए डिपोजिट करने का ऑफर करता है क्योंकि वाणिज्यिक बैंक डिपोजिट रकम पर ज्यादा से ज्यादा ब्याॅज देने का कार्य करता है ।


आवर्ती जमा खाता की सुविधा


वाणिज्यिक बैंक आवर्ती जमा खाता वैसे लोगों को खोलने के लिए सलाह देता है, जो लो एक बार में मोटी रकम डिपोजिट नही कर सकते, नियम के अनुसार आवर्ती खाता में थोड़ी थोड़ी रकम निश्चित समय तक मोटी रकम डिपोजिट किया जा सकता है जिसपर वाणिज्यिक बैंक लगभग सावधि खाता के समांतर ब्याज देता है ।



2. ऋण उपलब्ध कराना (Providing Credit)


वाणिज्यिक बैंको का मुख्य कार्य में आम नागरिकों को ऋण उपलब्ध कराना भी होता है, इसके लिए वाणिज्यिक बैंकों द्वारा निम्नलिखित तरीके से उचित ब्याॅज दरों पर लोगों को ऋण (Loan) मुहैय्या करता है-


नगद जमा की सुविधाए 


वाणिज्यिक बैंक इस प्रकार के ऋण (Loan) न्यूनतम दरों पर ग्राहकों को एक निश्चित जमानत के आधार पर निश्चित जमाराशि निकालने का अधिकार देता है ।  


ओवरड्राप्ट की सुविधाए 


ओवरड्राप्ट यानि ऋण (Loan) वाणिज्यिक बैंक की ओर से यह सुविधा चालु खाताधारक को दिया जाता है, ओवरड्राप्ट (Overdraft) नियम के तहत खाताधारक अकाउंट में जमा पैसा से अधिक निकाल सकता है ।


अग्रिम ऋण की सुविधाए 


वाणिज्यिक बैंक द्वारा अग्रिम ऋण (Loan) यानि पहले ग्राहकों के खाते में पैसा डाल देता है और उसके बाद ब्याज लगाना चालु करता है ।


सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश


वाणिज्यिक बैंक सरकारी प्रतिभूतियों को खरीदने के लिए भी ऋण (Loan) उपलब्ध करता है क्योंकि सरकारी प्रतिभूतियों में निवेश करने की जोखिम कम रहता है ।



ये भी जानिए-


केंद्रीय बैंक के कार्यों का वर्णन कीजिए?

व्यापारिक बैंक के कार्यों का वर्णन कीजिए?

व्यावसायिक बैंक के कार्यों का वर्णन कीजिए?

केंद्रीय बैंक और व्यापारिक बैंक में क्या अंतर है?

Post a Comment

Previous Post Next Post