भविष्य निधि क्या है (What Is Provident Fund In Hindi)

भविष्य निधि क्या है (What Is Provident Fund In Hindi) इसके बारें में खासकर उनलोगों के लिए जानना बेहद जरूरी है जो लोग किसी सरकारी या प्राइवेट संस्था में नौकरी करने की इच्छा रखते है या हाल ही में नौकरी के लिए ज्वाइनिंग किये है । भविष्य निधि की जानकारी उनलोगों को भी काम आता है जो लोग किसी व्यावसाय से जुड़े हैं या जिनके पास स्वरोजगार के साधन हैं, यानि संपष्ट है भविष्य निधि के बारें में प्रत्येक व्यक्ति को जानकारी होनी चाहिए, क्योंकि भविष्य निधि एक ऐसी योजना है जिसका लाभ सरकारी और प्राइवेट संस्थाओ में कार्य करने वाले कर्मचारियों को मिलता है, साथ ही कोई भी भारतीय चाहें तो बैंक के जरिए भविष्य निधि योजना से जुड़ सकता सकता है तथा नौकरी करने वाले कर्मचारियों की तरह लाभ उठा सकते है । चलिए देर किस बात की भविष्य निधि योजना क्या है और भविष्य निधि योजना के फायदे क्या है विस्तार से जानने की कोशिश करते है- 



भविष्य निधि क्या है (What Is Provident Fund In Hindi)
भविष्य निधि क्या है (What Is Provident Fund In Hindi)




भविष्य निधि योजना क्या है (What Is Provident Fund Scheme In Hindi)


भविष्य निधि (प्रोविडेंट फण्ड) योजना सरकारी एवं प्राइवेट क्षेत्रों में कार्यरत सभी कर्मचारियों के लिए बचत का एक प्रमुख साधन है, जिसकी शुरुआत 15 नवंबर, 1951 में कर्मचारी भविष्य निधि अध्यादेश के आने के पश्चात हुई थी, जिसके उपरांत 1952 में कर्मचारी भविष्य निधि अधिनियम लागू हुआ और तब से लेकर अब तक सरकार द्वारा बनाया गया संस्था कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employees Provident Fund Organization) द्वारा कर्मचारी भविष्य निधि (Employee Provident Fund) योजना को संचालित कर रहा है । दूसरी तरफ देखा जाए तो केन्द्र सरकार आम नागरिकों को भी भविष्य निधि योजना से जोड़ने हेतु 1968 में सार्वजनिक भविष्य निधि (Public Provident Fund) योजना लाई, जिसके उपरांत सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) योजना को बैंकों और पोस्ट ऑफिस द्वारा संचालित किया जा रहा है, कोई भी भारतीय आम नागरिक बैंक या पोस्ट ऑफिस के माध्यम से सामान्य भविष्य निधि (Public Provident Fund) में निवेश कर सकता है।



कर्मचारी भविष्य निधि योजना के फायदें (Benefits Of Employees Provident Fund Scheme In Hindi)


1. भविष्य निधि (प्रोविडेंट फण्ड) योजना प्रत्येक कर्मचारीयों के लिए बचत करने का बेहतरीन तरीका है एवं बुढ़ापे की सहारा होता है ।


2. सरकारी या प्राइवेट संस्था में नौकरी ज्वाइनिंग करते ही संस्था द्वारा नये कर्मचारी का उसका भविष्य निधि अकाउंट केन्द्र सरकार द्वारा स्थापित संस्था कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employee Provident Fund Organization) में खोल दिया जाता है, जिसे अधिकांश लोग पीएफ खाता भी कहते हैं ।


3. कर्मचारी भविष्य निधि खाता खुलते ही 6 लाख का फ्री इंश्‍योरेंस कर्मचारी जमा लिंक्ड बीमा (Employee Deposit Linked Insurance) स्किम के तहत मिल जाता है । किसी कारणवश कर्मचारी की मृत्यु के पश्चात कर्मचारी के परिवार वालो को यह राशि दे दिया जाता है ।


4. प्रत्येक महीने कर्मचारी के कुल सैलरी से 12% काटकर संस्था द्वारा कर्मचारी के भविष्य निधि (Provident Fund) अकाउंट में डाल दिया जाता है, कर्मचारी को हाथ पैर मारने की आवश्यकता नही परती है । 


5. कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (Employees Provident Fund Organization) एक प्रकार से कर्मचारीयों का बैंक होता है, जिसके द्वारा कर्मचारियों को उसके भविष्य निधि खाता में की गई निवेश पर क्रमश 8% ब्याॅज देता है ।


6. भविष्य निधि खाते में जमा रकम पूर्ण रूप से टैक्स फ्री होता है एवं भविष्य निधि खाते से पैसे निकालने वक्त किसी भी प्रकार का टैक्स देना नही पड़ता है ।


7. कर्मचारी द्वारा किसी भी बैंक या गैर बैंकिंग संस्थाओ से लिया गया ऋण (Loan) उसके भविष्य निधि अकाउंट से वसूल नही कर सकता है ।


8. यूनिवर्सल अकाउंट नंबर (UAN Number) जो की भविष्य निधि खाता से संबंधित 12 डिजीट एक विशिष्ट पहचान संख्या होती है, इस नंबर की सहायता से नौकरी बदलने के क्रम में दूसरे जगह भविष्य निधि खाता को आसानी से ट्रांसफर किया जा सकता है ।


9. हाल के नये नियमो के अनुसार आर्थिक जरूरतों के आधार पर कोई भी कर्मचारी अपने भविष्य निधि खाता से 90 फिसद पैसा निकाल सकता है, बशर्ते भविष्य निधि खात 5 वर्ष पुरानी होनी चाहिए । 




कर्मचारी भविष्य निधि और सार्वजनिक भविष्य निधि योजना में क्या अंतर है (Difference Between Employee Provident Fund And Public Provident Fund Scheme In Hindi)


कर्मचारी भविष्य निधि खाता नौकरी करने वाले व्यक्तियों का कंपनी द्वारा खोले जाने की अनिवार्यता होता है, जबकि सार्वजनिक भविष्य निधि आम व्यक्ति अपनी मर्जी से बैंक या पोस्ट ऑफिस में खुलवाते है ।


कर्मचारी भविष्य निधि योजना केन्द्र सरकार के श्रम मंत्रालय यानि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) द्वारा संचालित किया जाता है, जबकि सार्वजनिक भविष्य निधि योजना बैंक और पोस्ट ऑफिस द्वारा संचालित किए जाते है ।


कर्मचारी के वेतन से प्रति महीने कंपनी 12% काटकर उसके भविष्य निधि अकाउंट में डालते रहती है, जबकि सार्वजनिक भविष्य निधि में निवेश व्यक्ति को खूद ही करना परता है ।


कर्मचारी भविष्य निधि संगठन द्वारा कर्मचारीयों के भविष्य निधि खाते में जमा धन पर क्रमश 8% ब्याॅज दिया जाता है, जबकि बैंक और पोस्ट ऑफिस द्वारा सामान्य भविष्य निधि निवेशकों को क्रमश 7-8% ब्याॅज देता है, लेकिन वर्तमान में कुछ बैंक सार्वजनिक भविष्य निधि योजना में निवेश करने पर ज्यादा ब्याॅज देने की पेशकश कर रहे है ।



ये भी जानिए:-



ग्रेच्युटी क्या होता है कैसे मिलती है?

पीएफ नंबर क्या होता है कैसे मिलता है?

एनएसपी क्या होता है पुरी जानकारी 

पीएफ खाता कितने प्रकार के होते है?

पीएफ और यूएएन नंबर में क्या अंतर है?

जीपीएफ क्या होता है पुरी जानकारी

भीपीएफ क्या होता है पुरी जानकारी

Post a Comment

Previous Post Next Post