PPF फुल फाॅर्म इन हिंदी और PPF अकाउंट क्या होता है पूरी जानकारी

PPF फुल फाॅर्म इन हिंदी और PPF अकाउंट क्या होता है पूरी जानकारी प्रत्येक आम नागरिक को होनी ही चाहिए क्योंकि यह एक ऐसा बचत योजना है जिसको भारतीय सरकार के वित्त मंत्रालय द्वारा 1968 में लाई गई थी । इस योजना के तहत सामान्य लोग एक निश्चित समय तक थोड़ी-थोड़ी राशि बचत करने के साथ-साथ अपने बचत धन पर क्रमश 7-8% ब्याज प्राप्त कर सकता है तथा PPF योजना की सबसे बड़ी फायदे की बात किया जाए तो यह टैक्स मुक्त योजना है । दोस्तों यदि आप एक सामान्य व्यक्ति है अभी तक नही जानते पीपीएफ योजना क्या है तो अवश्य ही इसके बारें में जानिए क्योंकि सरकार PPF योजना खासकर सामान्य व्यक्तियों के लिए ही बनाया है । चलिए बिना देर किए सिधे मुद्दे पर बात करते है और जानते है पीपीएफ फुल फाॅर्म क्या होता है? पीपीएफ योजना क्या है? एवं पीपीएफ योजना के फायदें और नुकसान क्या है?




PPF फुल फाॅर्म इन हिंदी और PPF अकाउंट क्या होता है पूरी जानकारी
PPF फुल फाॅर्म इन हिंदी और PPF अकाउंट क्या होता है पूरी जानकारी




PPF फुल फ़ॉर्म क्या होता है?


PPF Full Form In English - Public Provident Fund एवं पीपीएफ फुल फ़ॉर्म इन हिंदी - सार्वजनिक भविष्य निधि होता है जिसे सार्वजनिक भविष्य निधि योजना भी कहा जाता है ।



सार्वजनिक भविष्य निधि योजना क्या है? - What Is Public Provident Fund Scheme In Hindi


सार्वजनिक भविष्य निधि एक ऐसी योजना है जिसके तहत कोई भी भारतीय आम नागरिक लम्बी अवधि तक निवेश कर सकता है यानि यह सुविधा प्रत्येक राष्ट्रीयकृत बैंकों और पोस्ट ऑफिस द्वारा दी जाती है एवं वर्तमान समय में कुछ प्राइवेट क्षेत्र के बैंकों द्वारा भी दिये जाने लगा है  जिसमें अपना PPF अकाउंट ओपेन कराने के बाद पीपीएफ अकाउंट में सालाना कम से कम 500 और अधिकतम 150000 रूपय जमा तथा अपने जमा धन पर क्रमश 8-9% का लाभ प्राप्त कर सकता है । बहुत कम कमाने वाले लोग भी अपना पीपीएफ अकाउंट ओपेन करा सकता है । पीपीएफ अकाउंट क्रमश 100 रूपय में ओपेन कर दिया जाता जाता है तथा पीपीएफ की मैच्योरिटी निर्धारित 15 वर्ष की है बाद में व्यक्ति चाहे तो अपनी पीपीएफ अकाउंट की समय सिमा आवेदन के जरिए बढा सकता है । पाब्लिक प्रोविडेंट फण्ड योजना सरकार की तरफ से दी जाने वाली सेवा है अतः इसमें किसी तरह का जोखिम भी नहीं होता है ।



पीपीएफ सेवाए देने वाले बैंकों के नाम - Names Of Banks Offering PPF Services


स्टेट बैंक ऑफ इंडिया - State Bank Of India

सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया - Central Bank Of India

इंडियन ओवरसीज़ बैंक - Indian Overseas Bank

पंजाब नेशनल बैंक - Punjab National Bank

बैंक ऑफ बड़ौदा - Bank Of Baroda

आईडीबीआई बैंक - IDBI Bank

बैंक ऑफ इंडिया - Bank Of India

कॉर्पोरेशन बैंक - Corporation Bank

केनरा बैंक - Canara Bank    

यूनियन बैंक - Union Bank

इंडियन बैंक - Indian Bank   

यूनाइटेड बैंक - United Bank

विजया बैंक - Vijaya Bank

देना बैंक - Dena Bank

एचडीएफसी बैंक - Hdfc Bank

आईसीआईसीआई बैंक - ICICI Bank



पीपीएफ अकाउंट कैसे खोलें - How To Open PPF Account In Hindi


कोई भी सामान्य व्यक्ति क्रमश 100 रूपय में पाब्लिक प्रोविडेंट फण्ड अकाउंट नीचे दिए गए निम्न प्रकार से आवेदन कर सकता है:-


ऑफलाईन - व्यक्ति अपनी डोकोमेन्ट्स लेकर सिधे राष्ट्रीयकृत बैंकों या पोस्ट ऑफिस एवं पीपीएफ सेवाए देने वाले अन्य HDFC, ICICI बैंक में जाकर आवेदन कर सकता है ।


ऑनलाइन - पीपीएफ सेवाए देने वाले बैंक का नेटबैकिंग या मोबाइल बैंकिंग इस्तेमाल करने वाले व्यक्ति बिना बैंक गए अपना पीपीएफ अकाउंट खूद से खोल सकता है एवं कितना राशि जमा करना है चुनाव कर सकता है ।



पीपीएफ खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज - Documents Required To Open PPF Account In Hindi


1. पासपोर्ट साईज फोटो

2. पेन कार्ड

3. आधार, वोटर, ड्राइविंग लाइसेंस (इनमें से कोई एक)

4. बिजली बिल, गैस बिल (एड्रेस प्रूफ)

5. पीपीएफ खाता ओपेन करने के लिए अधिकृत फाॅर्म



पीपीएफ खाता के फायदे - Benefits Of PPF Account In Hindi


कम से कम आय वाले सामान्य भारतीय आम नागरिक मात्र क्रमश 100 रूपय में अपना पीपीएफ़ खाता बैंक या पोस्ट ऑफिस में ओपेन करा सकता है । माता-पिता नाबालिग बच्चों के लिए भी पीपीएफ खाता ओपेन करा सकता है ।


पीपीएफ यानि सार्वजनिक भविष्य निधि योजना सरकार के द्वारा आम लोगो के लिए बनाया गया योजना है इसलिए इस योजना में पैसे डूबने की संभावना कम होती है क्योंकि यह सरकार की बैंक रिजर्व बैंक की देखरेख में होता है ।


व्यक्ति अपने पीपीएफ खाते में न्यूनतम 500 प्रत्येक माह या सालाना या अधिकतम 1.5 लाख रूपए तक सालाना जमा करने के लिए वर्तमान समय में नियम के अनुसार स्वतंत्र है ।


पीपीएफ खाते में जमा रकम पर क्रमश ब्याॅज दर 7-8% दिया जाता है एवं पीपीएफ EEE श्रेणी के अंतर्गत आता है जिसका अर्थ है की पीपीएफ मूल राशि, मैच्योरिटी राशि एवं अर्जित ब्याॅज पर टैक्स नही लगेगा ।


पीपीएफ खाते की मैच्योरिटी अवधि 15 वर्ष की होती है । अवधि पूरा होने पर व्यक्ति चाहे तो अपनी पूरी रकम निकाल सकता है या 5 वर्ष के अंतराल में आगे बढ़ा सकता है ।


पीपीएफ पर ऋण (Loan) की सुविधाए भी दी जाती है किसी कारणवश पैसों की आवश्यकता परने पर पीपीएफ खाते पर ॠण प्राप्त किया जा सकता है बशर्ते पीपीएफ खाता चालू अवस्था में पांच वर्ष पूरानी होनी चाहिए ।



पीपीएफ अकाउंट के नुकसान - Disadvantages Of PPF Account In Hindi 


केवल भारतीय नागरिक ही और एक व्यक्ति एक ही पीपीएफ अकाउंट ओपेन करा सकता है । NRI पीपीएफ खाता ओपेन नही करा सकता हालांकि NRI बनने से पहले पीपीएफ खाता ओपेन है तो पंद्रह वर्ष मैच्योरिटी तक चला सकते है ।


PPF खाता में एक साल में अधिकतम 1.5 लाख रुपए तक ही जमा किया जा सकता हैं । यानी की 15 वर्ष में ज्यादा से ज्यादा 22.5 लाख रुपए तक ही पाब्लिक प्रोविडेंट फण्ड खाता में जमा कर सकते हैं । वर्तमान ब्याजदर (7.1%) के हिसाब से 15 साल बाद कुल 40 लाख 68 हजार 209 रुपए मिलेंगे । 


अगर किसी आम व्यक्ति के पास 1.5 लाख रुपए से ज्यादा जमा करने की क्षमता है या लंबे समय बाद कुछ ज्यादा बड़ा काम करना चाहते हैं तो फिर व्यक्ति के लिए पीपीएफ अपर्याप्त योजना है । इसके विपरीत NSC, FD या RD खाता ओपेन कराना बेहतर हो सकता हैं ।


पीपीएफ खाता में जमा धन पर सेक्शन 80C के तहत टैक्स छूट अवश्य मिलती है लेकिन इस सेक्शन के तहत कुछ खास तरह के निवेशों पर हर साल 1.5 लाख रुपए पर टैक्स छूट मिलती है जैसे की अन्य निवेशो और खर्चों को जोड़कर यह 1.5 लाख की रकम तय होती है EPF, NSC, सुकन्या समृद्धि, सीनियर सिटिजन, 5 वर्षीय FD वगैरह ये सभी 80C के तहत शामिल है । अगर सबकी जमा में 1.5 लाख रुपए से ज्यादा जो भी रकम होगी उनपर टैक्स लिया जाएगा । यानी कि यदि कोई व्यक्ति 80C के फायदे वाली कई योजनाओं में पैसा लगाया है या खर्च किया है तो पीपीएफ खाते के पूरे 1.5 लाख रुपए पर टैक्स छूट नहीं ले पाएंगे ।



ये भी पढ़े- PF फुल फ़ॉर्म इन हिंदी PF की पूरी जानकारी


ये भी पढ़े- EPF फुल फाॅर्म इन हिंदी EPF की पूरी जानकारी


ये भी पढ़े- EPFO फुल फ़ॉर्म इन हिंदी EPFO की पूरी जानकारी

Post a Comment

Previous Post Next Post