PF क्या होता है? - जानिए PF फुल फाॅर्म इंन हिंदी

PF क्या होता है? PF फुल फाॅर्म इंन हिंदी - आईयें इसके बारें में विस्तार से जानते है क्योंकि पुराने लोग जो पहले से किसी सरकारी या प्राइवेट संस्था में नौकरी कर रहे है उनकों PF के बारें में पूरी जानकारी अवश्य पता होता है । मगर नये लोग जो अपनी जीवन में पहली बार किसी सरकारी या प्राइवेट संस्था में नौकरी की शुरुआत करने जाते है तो इनके सैलरी से PF काटां जाता है जिसके बाद ये लोग भी PF का मतलब क्या होता है जानने की कोशिश करते है । दोस्तों PF की बात किया जाए तो नौकरी पेशा करने वालों के साथ-साथ प्रत्येक भारतीय नागरिकों को जानकारी होनी चाहिए । चलिए बिना टाईम गवाए बात करतें है PF क्या होता है? PF का फुल फाॅर्म क्या होता है? PF के प्रकार, PF कितना कटता है? और PF के फायदें क्या है?




PF क्या होता है? PF फुल फाॅर्म इंन हिंदी
PF क्या होता है? PF फुल फाॅर्म इंन हिंदी




PF का फुल फाॅर्म क्या होता है?


PF Full Form In English - "Provident Fund" और पीएफ फुल फाॅर्म इंन हिंदी - "भविष्य निधि" होता है जिसे भविष्य निधि योजना भी कहा जाता है ।



PF क्या होता है? - What Is PF In Hindi


शायद आप समझ गए होगें पीएफ का फुल फाॅर्म "प्रोविडेंट फण्ड" एवं प्रोविडेंट फण्ड मीनिंग इन हिंदी "भविष्य निधि" होता है जिसे भविष्य निधि योजना से भी जाना जा सकता है । भविष्य निधि योजना खासकर सरकारी और प्राइवेट संस्थाओ में काम कर रहे कर्मचारियो के लिए होता है यानि की जिस सरकारी या प्राइवेट संस्था में 20 से ज्यादा लोग कार्य कर रहे होते है इनलोगों की PF अकाउंट्स संस्था द्वारा खोला जाता है एवं संस्था प्रत्येक महीनें अपने प्रत्येक कर्मचारी के तनख्वाह से 12% काटकर उसके PF अकाउंट में डाल देती है । PF (प्रोविडेंट फण्ड) अकाउंट के बारें में समझने की कोशिश किया जाए तो PF (प्रोविडेंट फण्ड) अकाउंट एक तरह से बचत खाता (Saving Account) की तरह ही होता है जिसका पैसा कर्मचारी के रिटायर्मेंट होने के तुरंत बाद उसे दे दिया जाता है ।



पीएफ अकाउंट कितने प्रकार के होते है? - Types Of PF Account In Hindi


PF अकाउंट के प्रकार - भविष्य निधि (Provident Fund) खाता नीचे दिए गए निम्न प्रकार के होतें है:-


1. EPF (Employees Provident Fund Account)

2. PPF (Public Provident Fund Account)

3. GPF (General President Fund)

4. VPF (Voluntery Provident Fund)



EPF क्या होता है? - What Is EPF In Hindi


EPF Full Form In English - "Employee Provident Fund" एवं ईपीएफ फुल फाॅर्म इंन हिंदी - "कर्मचारी भविष्य निधि" होता है । EPF (कर्मचारी भविष्य निधि) सरकार द्वारा 1952 में लायी गई एक ऐसी योजना है जिसे EPFO (Employee Provident Fund Organization) यानि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन चलाती है और इसकी अध्यक्षता भारत सरकार के केंद्रीय श्रम मंत्रालय करता हैं । EPF खाता केवल सरकारी या प्राइवेट संस्थाओ में नौकरी करने वाले कर्मचारियों का खोला जाता है एवं कर्मचारी के कुल मासिक वेतन से 12% काटकर EPF अकाउंट में डालने की जिम्मेदारी भी कंपनी की होती है । प्रत्येक कर्मचारी की EPF में डाले गये रकम पर क्रमश 8 से 9% ब्याॅज दिया जाता है एवं EPF का टोटल पैसा व्यक्ति के रिटायर्मेंट पर मिल जाता है । 



PPF क्या होता है? - What Is PPF In Hindi


PPF Full Form In English - "Public Provident Fund" एवं पीपीएफ फुल फाॅर्म इंन हिंदी - "सार्वजनिक भविष्य निधि" होता है जिसे "सार्वजनिक भविष्य निधि योजना" भी कहा जाता है । यहां पर याद रखने की जरूरत है EPF खाता नौकरी करने वाले व्यक्तियों का खोला जाता है एवं EPFO (Employee Provident Fund Organization) के अधीन होता है इसलिए EPF की पैसा रखने और कर्मचारी के रिटायर्मेंट पर पैसा देने की जिम्मेवारी EPFO की होती है । अब यदि PPF (Public Provident Fund) योजना की शुरुआत की बात किया जाए तो 1968 में की गई थी एवं PPF योजना के तहत PPF खाता केवल बैंक या पोस्ट ऑफिस में खोले जाते है यानि की कोई भी सामान्य आम नागरिक अपना PPF खाता ओपेन करा सकता है और प्रत्येक महीनें या साल में जितना चाहे PPF खाता में जमा कर सकता है और अपने जमा धन पर क्रमश 7 से 8% ब्याॅज प्राप्त कर सकता है । PPF पैसे की देनदार बैंक और बैंकों का निगरानी करने वाले रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया होता है ।



GPF क्या होता है? - What Is GPF In Hindi


GPF Full Form In English - "General President Fund" एवं जीपीएफ फुल फाॅर्म इंन हिंदी - "सामान्य भविष्य निधि" होता है जिसे सामान्य भविष्य निधि योजना भी बोल सकते है । जैसा की आपको पता चल गया होगा सरकारी और प्राइवेट संस्था में कार्य करने वाले कर्मचारी का संस्था द्वारा EPF खाता ओपन किया जाता है एवं नियमानुसार कर्मचारी के सैलरी से क्रमश 12% काटकर उसके EPF अकाउंट में डाल देती है । अब यहां पर केवल सरकारी कर्मचारी की बात किया जाए तो कुछ ऐसे सरकारी कर्मचारी होते है जो अपनी सैलरी से ज्यादा पैसा कटवाना और EPF खाते में जमा करवाना चाहते है तो ऐसी स्थिति में उस कर्मचारी का EPF अकाउंट GPF में जाना जाता है ।



VPF क्या है? - What Is VPF In Hindi


VPF Full Form In English - "Voluntery Provident Fund" एवं VPF फुल फ़ॉर्म इन हिंदी - "स्वैच्छिक भविष्य निधि" होता है । जब किसी प्राइवेट संस्था में काम करने वाले कर्मचारी अपनी मर्जी से EPF का पैसा ज्यादा कटवाते है तब इनके EPF अकाउंट VPF (वालंटियर प्रोविडेंट फण्ड) के रूप में जाना जाता है ।



PF के फायदें क्या है? - Benefits Of Provident Fund In Hindi


  • भविष्य निधि (प्रोविडेंट फण्ड) एक ऐसी योजना है जो किसी भी कर्मचारी के लिए बचत करने का बेहतरीन तरीका है एवं बुढ़ापे की सहारा होता है ।


  • EDLI (Employee Deposit Linked Insurance) स्किम के तहत पीएफ अकाउंट खुलते ही 6 लाख़ रूपये तक का इंश्‍योरेंस मिल जाता है । किसी कारणवश मृत्यु के पश्चात कर्मचारी के परिवार वालो को दे दिया जाता है ।


  • कंपनी की ओर से प्रत्येक कर्मचारी के सैलरी से PF अकाउंट में 12 प्रतिशत डालने के क्रम में क्रमश 3.67% EPF (कर्मचारी भविष्य निधि योजना) एवं 8.33% EPS (कर्मचारी पेंशन योजना) में जमा होती है । EPS की राशि रिटारमेंट के बाद किस्तो में दिया जाता है।


  • कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (EPFO) द्वारा कर्मचारी भविष्य निधि (EPF) खाते के लिए क्रमश 8-9% देता है । एवं बैंकों और पोस्ट ऑफिस द्वारा सार्वजनिक भविष्य निधि (PPF) खाते के लिए क्रमश 7-8% ब्याॅज देता है ।


  • PF खाते में जमा रकम पूर्ण रूप से टैक्स फ्री होता है एवं PF खाते से पैसे निकलवाने पर किसी भी प्रकार का टैक्स नही देना नही पड़ता है ।


  • कर्मचारी द्वारा किसी भी बैंक या गैर वित्तीय संस्था से लिया गया कर्ज (Loan) बैंक या कोई वित्तीय संस्था कर्मचारी के PF अकाउंट से वसूल नही कर सकता है ।


  • वर्तमान समय में UAN Number की सहायता से नौकरी बदलने के क्रम में दूसरे जगह PF अकाउंट को आसानी से ट्रांसफर किया जा सकता है ।


  • नये नियमो के अनुसार आर्थिक जरूरतों के आधार पर 90 प्रतिशत PF का पैसा निकाला जा सकता है बशर्ते पीएफ अकाउंट 5 वर्ष पुरानी होनी चाहिए । 



EPF और PPF अकाउंट मे क्या अंतर होता है? - What Is Difference Between EPF And PPF Account In Hindi


  • EPF नौकरी करने वाले व्यक्तियों का कंपनी द्वारा खोले जाने की अनिवार्यता होता है जबकि PPF आम व्यक्ति अपनी मर्जी से ओपेन कराता है ।


  • EPF योजना केन्द्र सरकार के श्रम मंत्रालय यानि Employee Provident Fund Organization द्वारा संचालित किया जाता है जबकि PPF योजना सर्विस बैंक और पोस्ट ऑफिस द्वारा दी जाती है ।


  • कर्मचारी के वेतन से प्रति महीने कंपनी 12% काटकर EPF अकाउंट में ऑटोमेटिक डाल दिया करता है जबकि PPF के लिए व्यक्ति को खूद ही बैंक या पोस्ट ऑफिस में डालना होता है ।


  • EPFO द्वारा EPF के लिए क्रमश 8-9% ब्याॅज देता है जबकि बैंक और पोस्ट ऑफिस द्वारा PPF के लिए क्रमश 7-8% ब्याॅज देता है । लेकिन वर्तमान में कुछ बैंक PPF पर ज्यादा ब्याॅज देने की पेशकश कर रहे है ।



ये भी पढें - ओवरड्राफ्ट क्या होता है?

ये भी पढें - कैंसिल चेक क्या होता है?

Post a Comment

Previous Post Next Post