नेटबैकिंग और मोबाइल बैंकिंग मे अंतर क्या होता है?

नेटबैकिंग और मोबाइल बैंकिंग में अंतर क्या है यदि आप बैंकिंग सुविधाओ का भरपूर लाभ उठाना चाहते है तो अवश्य ही बैंको द्वारा दी जाने वाली सर्विस मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट बैंकिंग के संदर्भ मे जानकारी रखनी चाहिए क्योंकि आज के समय मे बैंको और वित्तीय संस्थानो द्वारा दी जाने वाली सर्विस मोबाइल बैंकिंग और नेटबैकिंग प्रचलित बनते जा रही है इसका मुख्य वजह ये है की जो काम बैंक जाकर किये जाते थे अब वही काम घर बैठे मिनटो मे मोबाइल बैंकिंग और नेटबैकिंग के जरिए आसानी से किये जाते है अनेक लोग है जो मोबाइल बैंकिंग या नेटबैकिंग उपयोग करते है इसका लाभ भी उठा रहे है मगर आज भी अनगिनत लोग ऐसे है जो इस डिजीटल समय मे भी मोबाइल बैंकिंग या नेटबैकिंग के बारे मे कुछ नही जानते यदि आपको मोबाइल बैंकिंग या इंटरनेट बैंकिग क्या होता है इसके विषय मे बिल्कुल पता नही है तो सर्वप्रथम मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट क्या होता है नीचे दिए गये लिंक पर क्लिक करके जानकारी प्राप्त कर सकते है तभी आप समझ पाएंगे मोबाइल बैंकिंग और नेटबैकिंग मे क्या अंतर होता है क्योंकि मै इस आर्टिकल मे केवल मोबाइल बैंकिंग और इंटरनेट बैंकिंग मे अंतर के बारे मे बात करने जा रहे है!


ये भी पढे- मोबाइल बैंकिंग क्या है?

ये भी पढे- इंटरनेट बैंकिंग क्या है?


नेटबैकिंग और मोबाइल बैंकिंग मे अंतर क्या होता है?
नेटबैकिंग और मोबाइल बैंकिंग मे अंतर क्या होता है?



मोबाइल बैंकिंग और नेटबैकिंग मे अंतर क्या होता है?


  • मोबाइल बैंकिंग उपयोग के लिए बैंक द्वारा ऐप्लिकेशन बनाई गई है ऐप्लिकेशन को स्मार्टफोन मे इंस्टाॅल और रजिस्टर के उपरांत मोबाइल बैंकिंग का लाभ उठाया जाता है तथा नेटबैकिंग के लिए बैंक द्वारा बेवसाइट बनाई गई है बैंक के बेवसाइट आईडी बनाने के उपरांत अपना बैंक अकाउंट को एक्सेस और इस्तेमाल किया जा सकता है!


  • मोबाइल बैंकिंग ऐप्लिकेशन के जरिए इस्तेमाल किया जाता है जबकि नेटबैकिंग ब्राउजिंग के जरिए यूज किया जाता है कोई भी बैंक का मोबाइल बैंकिंग ऐप्लिकेशन और वेबसाइट इस्तेमाल करने के स्थिति मे उस बैंक मे खाता होना आवश्यक है क्योंकि मोबाइल बैंकिंग या नेटबैकिंग की सर्विस बैंक के खाताधारक ही इस्तेमाल कर सकते है!


  • मोबाइल बैंकिंग ऐप्लिकेशन मे मोबाइल रीचार्ज, डिटिएच रीचार्ज, बिजली बिल भुगतान तथा किसी भी प्रकार के टिकट बुकिंग की सुविधा मिल जाती है लेकिन अभी तक इंटरनेट बैंकिंग मे इस प्रकार के सुविधाये मौजूद नही है!


  • मोबाइल बैंकिंग और नेटबैकिंग इस्तेमाल करने की बात किया जाए तो सबसे ज्यादा लोग मोबाइल बैंकिंग इस्तेमाल करना पसंद करते है क्योंकि नेटबैकिंग के बजाय मोबाइल बैंकिंग इस्तेमाल करना बहुत आसान होता है!


  • मोबाइल बैंकिंग और नेटबैकिंग दोनो को उपयोग करके लगभग एकसमान सर्विस का लाभ उठाया जा सकता है मगर कोई भी काम जल्द से जल्द करने की बात किया जाए तो नेटबैकिंग के बजाय मोबाइल बैंकिंग के माध्यम से मिनटो मे किया जा सकता है क्योंकि मोबाइल बैंकिंग ऐप्लिकेशन फोन मे इंस्टाॅल होती है सिर्फ पीन नंबर डालते ही ओपेन और फटाफट जो काम करना चाहेगे जल्द कर लेगे लेकिन नेटबैकिंग आईडी ओपेन के लिए सबसे प्रथम बैंक वेबसाईट के यूआरएल किसी ब्राउजर मे सर्च करना होता बैंक के वेबसाइट पर जाने के बाद Logging आईडी पासवर्ड डालना होगा उसके अपने बैंक खाता अकाउंट मे प्रवेश करेंगे और जो काम करना है चाहेंगे कर सकेंगे!

Post a Comment

Previous Post Next Post