NPS फुल फ़ॉर्म इन हिंदी और एनपीएस क्या है पूरी जानकारी

NPS फुल फ़ॉर्म इन हिंदी और एनपीएस क्या है पूरी जानकारी के बारें में आईये विस्तार से जानते है । जी हां दोस्तों जैसा की आपलोग जानते होगें भारत सरकार द्वारा कई तरह के योजना लाई जाती है NPS भी एक प्रकार का ऐसी योजना है जिसका लाभ व्यक्ति के रिटायर्मेंट पर मिलता है । भारत सरकार द्वारा द्वारा इस योजना का शुभारंभ 2004 में केवल नौकरी करने वाले कर्मचारी लिए किया था लेकिन 2009 में पूर्ण रूप से सार्वजनिक कर दिया अब कोई भी भारतीय आम नागरिक 18 - 65 वर्ष के आयु वाले व्यक्ति इस योजना में निवेश और फायदा ले सकते है । चलिए बिना देर किए विस्तारपूर्वक जानते है एनपीएस फुल फ़ॉर्म और एनपीएस योजना क्या है? एवं एनपीएस योजना के फायदे और नुकसान क्या है ।




NPS फुल फ़ॉर्म इन हिंदी और एनपीएस क्या है पूरी जानकारी
NPS फुल फ़ॉर्म इन हिंदी और एनपीएस क्या है पूरी जानकारी




एनपीएस का फुल फ़ॉर्म क्या होता है?


NPS Full Form In English - National Pension System जो की National Pension Scheme से जाना जाता है एवं एनपीएस फुल फ़ॉर्म इन हिंदी - राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली यानि की इसे राष्ट्रीय पेंशन योजना का नाम दिया गया है ।



एनपीएस क्या है - What Is NPS In Hindi


राष्‍ट्रीय पेंशन प्रणाली (NPS) यानि की राष्ट्रीय पेंशन योजना एक स्वैच्छिक अंशदायी योजना है जिसे भारत सरकार द्वारा भारत के नागरिकों को वृ‍द्धावस्‍था में सुरक्षा प्रदान करने हेतू शुरू किया है । नेशनल पेंशन सिस्टम को विनियमन पेंशन निधि विनियामक और विकास प्राधिकरण (PFRDA) द्वारा संचालित किए जाते है जिसे भारत सरकार ने 23 अगस्त 2003 में स्थापित किया गया था । जैसा की आप समझ गए होगें एनपीएस एक रिटायर्मेंट योजना है जिसमे कोई भी भारतीय नागरिक शामिल हो सकता है और अपनी कामकाजी जीवन के दौरान इस योजना में सहयोग करने और रिटायर होने के बाद इसका एक हिस्सा निकाल सकता है और बाकी का एक निश्चित हिस्सा निश्चित अंतराल पर प्राप्त कर सकता है ।



एनपीएस खाता के प्रकार - Types Of NPS Accounts In Hindi


नेशनल पेंशन स्कीम के तहत नीचे दिए गए निम्न प्रकार के एनपीएस खाता ओपेन किया जाता है:- 


टियर 1 एनपीएस अकाउंट - राष्ट्रीय पेंशन योजना के तहत ये अकाउंट सभी के लिए अनिवार्य है । टियर 1 अकाउंट में जो भी रकम जमा होती हैं उसे रिटायरमेंट होने से पहले नही निकाला जा सकता है हालांकि बच्चों की शिक्षा, विवाह, स्वास्थ्य जैसी इमर्जेंसी पर 25 फिसद रकम निकाला जा सकता है लेकिन खाता 10 वर्ष पुरानी होनी चाहिए । एक बात और टियर 1 खाताधारक चाहे तो इस स्कीम से बाहर होने के उपरांत खाते की रकम निकाल सकता हैं ।


टियर 2 एनपीएस अकाउंट - यह खाता ओपेन करना सभी के लिए अनिवार्य नही होता व्यक्ति अपनी इच्छा अनुसार टियर 2 खाता ओपेन करा सकता है और टियर 2 अकाउंट में जमा कर सकता है एवं जब चाहे पूरी राशि को एकमुश्त निकाल भी सकता है । लेकिन याद रखने योग्य बाते है टियर 2 अकाउंट खोलने के लिए व्यक्ति का पहले से टियर 1 अकाउंट होना आवश्यक है ।



एनपीएस में अकाउंट कैसे खोलें? - How To Open Account In NPS Scheme



कर्मचारी अपने Employer (नियोक्ता) की सहायता से एनपीएस खाता खोल सकते हैं ।


आम नागरिक नज़दीकी बैंक शाखा में जाकर एनपीएस (NPS) खाता ओपेन करा सकते हैं ।


आनलाईन भी एनपीएस अकाउंट के लिए अप्लाई करने के उपरांत खोला जा सकता है ।



एनपीएस में खाता खोलने के लिए आवश्यक दस्तावेज़ - Important Documents Of Open Account In NPS Scheme


  • पहचान प्रमाण पत्र (Identy Proofe)
  • निवास प्रमाणपत्र (Address Proofe)
  • जन्म प्रमाणपत्र (Birth Certificate)
  • ग्राहक पंजीकरण फॉर्म (Registration Form)



नेशनल पेंशन स्कीम के फायदें - Benefits Of National Pension Scheme In Hindi


NPS एक ऐसी योजना है जिसके तहत व्यक्ति अपने बुढ़ापे के लिए आर्थिक सहारे का इंतजाम कर सकता है । 


सेक्‍शन (80CCD-1), (80CCD-1B) और (80CCD-2) के तहत टियर 1 एनपीएस खाते में निवेश पर टैक्स लाभ मिलता है ।



एनपीएस के नुकसान - Disadvantage Of NPS In Hindi 


मैच्योरिटी पुर्ण से पहले टियर 1 खाते से रकम निकासी आसान नही होती है ।


टियर 2 अकाउंट में निवेश करने पर सेक्‍शन 80 सी के तहत 1.5 लाख रुपये तक ही टैक्‍स छूट दिया जाता है ।



ये भी पढें - PF क्या है पूरी जानकारी

ये भी पढें - PPF क्या है पूरी जानकारी

ये भी पढें - EPF क्या है पूरी जानकारी

ये भी पढें - EPFO क्या है पूरी जानकारी

ये भी पढें - GPF क्या है पूरी जानकारी

ये भी पढें - VPF क्या है पूरी जानकारी

ये भी पढें - EDLI क्या है पूरी जानकारी

Post a Comment

Previous Post Next Post