आवर्ती जमा खाता किसे कहते हैं (What Is A Recurring Deposit Account)

आवर्ती जमा खाता किसे कहते हैं (What Is A Recurring Deposit Account) शायद ही कुछ गिने-चुने लोग इस खाता के बारें में जानते है । दोस्तों वर्तमान समय में हमारें देश भारत में अनगिनत सरकारी और प्राइवेट बैंक मौजूद है और ये सभी बैंक ग्राहकों को कई प्रकार के खाता ओपन कराने की सलाह देते है । यदि बैंकों द्वारा खोलें जाने वाला आवर्ती जमा खाता की बात किया जाए तो इस खाता को आरडी यानि रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट भी कहा जाता है, यह खाता खासकर उन लोगों के लिये विशेष सुविधाजनक है जिनको एक निश्चित नियमित आय होती है, इसलिए इस खाते को सबसे ज्यादा ओपेन कराने वालों में सामान्य लोग ही होते है । आईयें बिना देर किए सिधे मुद्दे पर बात करते है और विस्तार से जानते है आवर्ती जमा खाता क्या होता है? यानि रेकरिंग डिपॉजिट अकाउंट किसे कहते हैं और इस खाता के फायदे क्या है?



आवर्ती जमा खाता किसे कहते हैं (What Is A Recurring Deposit Account)
आवर्ती जमा खाता किसे कहते हैं (What Is A Recurring Deposit Account)




आवर्ती जमा खाता किसे कहते हैं (What Is A Recurring Deposit Account)


आवर्ती जमा खाता एक प्रकार का ऐसा खाता होता है जिसमें प्रति माह या प्रति वर्ष एक निश्चित राशि निश्चित समय तक जमा की जाती है जिसपर बैंकों या पोस्ट ऑफिस द्वारा क्रमशः 7% तिमाही चक्रवृति ब्याॅज दिया जाता है यानि संपष्ट है कि एक सामान्य आम आदमी आवर्ती जमा खाता के तहत छोटी छोटी राशि समान किस्तों में प्रति माह या प्रति वर्ष एक निश्चित समय तक आसानी से जमा करते हुए मोटी रकम बना सकता है और अपने जमा धन पर ज्यादा से ज्यादा ब्याॅज प्राप्त कर सकता है । आवर्ती जमा खाता खोलने की सुविधाए प्रत्येक बैंक और पोस्ट ऑफिस द्वारा दिया जाता है, यह खाता कम से कम एक वर्ष और इससे अधिक दस वर्षो का ओपेन कराया जा सकता है कुछ बैंक दस वर्ष से भी अधिक का आवर्ती जमा खाता ओपेन करता है, तथा यह खाता न्यूनतम 100 रू. प्रतिमाह से ओपेन किया जा सकता है ।



आवर्ती जमा खाता के फायदे (Benefits Of Recurring Deposit Account)



1. एक सामान्य व्यक्ति घरेलु खर्च के बाद छोटी छोटी राशि बचत यानि आवर्ती जमा खाता में आसानी से जमा करके मोटी रकम बना सकता है, यह खाता न्यूनतम 100 रूपए शुरू किया जा सकता है ।


2. आवर्ती जमा खाता ओपेन कराने के लिए बैंक जाने की जरूरत नही होती है, व्यक्ति खूद से आनलाईन मोबाइल बैंकिंग या नेटबैकिंग के इस्तेमाल से पांच मिनट में आवर्ती जमा खाता खोल सकता है ।


3. सरकारी बैंक, प्राइवेट बैंक या पोस्ट ऑफिस सभी के द्वारा आवर्ती जमा खाता में जमा धन पर अन्य खातों के मुक़ाबले ज्यादा से ज्यादा ब्याॅज दिया जाता है ।


4. आवर्ती खाताधारक कों मासिक किस्त जमा हेतु बैंक जाने की आवश्यकता नही परती है, यह खाता बचत खाता या चालू खाता से लिंक होता है, ऑटोमैटिक बचत खाता या चालू खाता से प्रतिमाह किस्तों का पैसा कटकर आवर्ती जमा खाता में जमा हो जाता है ।


5. व्यक्ति चाहें कभी भी अपना आवर्ती जमा खाता बंद कराने के लिए स्वतंत्र होता है, लेकिन समय से पहले निकासी के दौरान खाताधारक को बैंक के आधार पर कुछ राशि पेनल्टी के रूप में चुकानी पड़ सकती है ।



आवर्ती जमा खाता कैसे खोलें (How To Open Recurring Deposit Account)


वर्तमान में सभी बैंक या पोस्ट ऑफिस आवर्ती जमा खाता खोलने की सुविधा प्रदान करता है, व्यक्ति बैंक में जाकर संपर्क कर सकता है, बैंक व्यक्ति के बचत खाता या चालू खाता से लिंक आवर्ती जमा खाता ओपेन कर देता है या व्यक्ति खूद बैंक वेबसाइट के माध्यम से अप्लाई कर सकता है ।



ये भी जानिए:-


चालू खाता किसे कहते हैं?

बचत खाता किसे कहते हैं?

चेक कितने प्रकार के होते हैं?

बैंक ओवरड्राफ्ट क्या होता है?

बैंक अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं?

चालू खाता और बचत खाता में अंतर क्या है?

पासबुक और चेकबुक में क्या अंतर होता है?

सरकारी और प्राइवेट बैंक में क्या अंतर है?

सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते है?

बैंक कितने प्रकार के राशि जमा स्वीकार करता है?

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post