वर्चुअल और फिजिकल कार्ड मे क्या अंतर होता है?

वर्चुअल और फिजिकल कार्ड मे क्या अंतर होता है शायद यह छोटी सी जानकारी आपको पता नही होगा आज के समय मे कार्ड के महत्व को जानना अत्यंत आवश्यक बन गया है क्योंकि आनलाईन शापिंग मे पेमेंट से लेकर किसी भी तरह के बिल पेमेंट और एटीएम मशीन से कैस निकालने के लिए कार्ड की जरूरत होती है ऐसे मे प्रत्येक व्यक्ति को समय के साथ चलना चाहिए आने वाले दिनो मे लोग एक-दूसरे से पैसे लेने के लिए सिर्फ डिजीटल लेन-देन ही एकमात्र माध्यम चुनेंगे सरकार की ओर से भी डिजीटल लेन-देन को बढ़ावा देने के लिए प्रयास किये जा रहे है तथा सरकार लोगो से आग्रह भी करते नजर आयी है इसलिए अगर डिजीटल लेन-देन कि बात किया जाए तो कार्ड अहम रोल निभाता है लेकिन गौर करने वाली बात है कार्ड भी कई तरह के होते है और अलग अलग तरह से काम करती है यदि वर्चुअल कार्ड और फिजिकल कार्ड कि बात किया जाये तो ये कार्ड भी एक दूसरे से भिन्न होता है चलिए मुद्दे पर बात करते है और विस्तार से आपके समक्ष वर्चुअल और फिजिकल कार्ड के संदर्भ मे बात करते है!


वर्चुअल और फिजिकल कार्ड मे क्या अंतर होता है?
वर्चुअल और फिजिकल कार्ड मे क्या अंतर होता है?



ये भी पढे- एटीएम कार्ड कितने प्रकार के होते है?

ये भी पढे- बैंक खाता कितने प्रकार के होते है?


वर्चुअल कार्ड क्या होता है?


यह कार्ड को पास मे नही रख सकते क्योंकि वर्चुअल कार्ड एक इंटरनेट कार्ड होता है जो कि जेनरेट किया गया कार्ड होता है मगर वर्चुअल कार्ड भी फिजिकल डेबिट कार्ड, क्रेडिट कार्ड की तरह ही काम करता है आनलाईन किसी भी प्रकार के शापिंग मे पेमेंट अन्य मोबाईल, डिटिएच, बिजली बिल, टिकट बुकिंग इत्यादी मे यूज किया जा सकता है परंतू एटीएम मशीन से पैसे नही निकाल सकते और स्वैप के जरिए पेमेंट भी नही कर सकते क्योंकि यह कार्ड आपके पास नही होता है वर्चुअल डेबिट, या वर्चुअल क्रेडिट कार्ड को सिर्फ आनलाईन उपयोग किया जाता है!


फिजिकल कार्ड क्या होता है?


इस कार्ड को अपने पास रख सकते है आनलाईन अनेक प्रकार के शापिंग मे पेमेंट के साथ-साथ एटीएम मशीन से कैस निकासी एवं स्वैप मशीन के जरिए होटल रेस्टोरेंट इत्यादी जगहो पर बिल पेमेंट किया जा सकता है फिजिकल कार्ड की बात किया जाए तो डेबिट और क्रेडिट कार्ड दोनो फिजिकल कैटिगरी मे आता है!


वर्चुअल और फिजिकल कार्ड मे अंतर क्या है?


  • वर्चुअल कार्ड को पास मे नही रख सकते मगर फिजिकल कार्ड को छू भी सकते है अपने पास भी रख सकते है!


  • वर्चुअल कार्ड मोबाईल बैंकिंग या नेटबैकिंग के माध्यम से जेनरेट किया गया कार्ड होता है दूसरी तरफ फिजिकल कार्ड बैंक द्वारा बनाया गया प्लास्टिक कार्ड होता है!


  • वर्चुअल कार्ड सिर्फ नेटबैकिंग या मोबाईल अकाउंट मे दिखाई देता है दूसरी तरफ फिजिकल कार्ड आप आपके पास होता है!


  • वर्चुअल कार्ड सिर्फ आनलाईन पेमेंट के लिए यूज किया जाता है लेकिन फिजिकल कार्ड के माध्यम से आनलाईन पेमेंट के साथ-साथ एटीएम मशीन से कैस निकासी एवं स्वैप मशीन के जरिए बिल पेमेंट किया जा सकता है!


  • वर्चुअल कार्ड के श्रेणी मे वर्चुअल डेबिट और वर्चुअल क्रेडिट हो सकता है और यही नाम से जान सकते है जबकि दूसरी तरफ जो कार्ड अपने पास रख सकते है उसे डेबिट और क्रेडिट नाम से जाना जाता है!


  • सबसे महत्वपूर्ण बात किया जाए तो वर्चुअल कार्ड फिजिकल कार्ड के अपेक्षा ज्यादा सिक्योर होता है!

Post a Comment

Previous Post Next Post