बैंक खाता कितने प्रकार के होते है?

बैंक खाता कितने प्रकार के होते है ये जानना बेहद जरूरी है क्योंकि कभी ना कभी आपको भी बैंक मे अकाउंट ओपेन कराने की आवश्यकता पड़ सकती है इसलिए आपको पता होनी चाहिए बैंक मे कितने तरह के खाते खोले जाते है तभी आप अपने लिए अपने फायदे के अनुसार खाता किसी भी बैंक मे ओपेन करा पाएंगे चलिए विस्तार से बात करते है किसी भी बैंक मे कितने प्रकार के अकाउंट ओपेन कराया जाता है यदि आपको खाते के विषय मे जानकारी नही है तो बने रहे हमारे साथ मै आपको विस्तार से बताउंगा बैंक अकाउंट कितने तरह के होते है आपको कौन सी खाता ओपेन कराना चाहिए!


बैंक खाता कितने प्रकार के होते है?
बैंक खाता कितने प्रकार के होते है?



ये भी पढे- सेविंग और करंट अकाउंट क्या होता है?
ये भी पढे- रूपए, वीज़ा, मास्टर डेबिट कार्ड क्या है?


कितने प्रकार के बैंक खाते खोले जाते है?


  • बचत खाता (Saving Account)
  • चालू खाता (Current Account)
  • सावधि जमा खाता (Fixed Deposit Account)
  • आवर्ती जमा खाता (Recurring Deposit Account)



बचत खाता (Saving Account) क्या है?


अधिकांश लोग बचत खाता इसलिए ओपेन कराते है इस खाते मे जब चाहे तब छोटी मोटी रकम जमा और निकाल सकते है यह खाता किसी भी बैंक मे न्यूनतम राशि मे खोल दिया जाता है तथा बचत खाते मे जमा रूपए पर सालाना बैंक द्वारा ब्याज भी दिया जाता है बचत खाते के लिए खाताधारक को डेबिट कार्ड, चेक बूक, मोबाईल बैकिंग, इंटरनेट बैंकिंग कि सुविधा दी जाती है!


चालू खाता (Current Account) क्या है?


करंट अकाउंट खासकर बिजनेस मैन, छोटे-बड़े कंपनी, स्कूल, अस्पताल वाले ओपेन कराते है क्योंकि इस खाते के तहत आप एक दिन मे अकाउंट मे जितना चाहे रूपए जमा और बाहर निकाल सकते है आप समझ सकते हो बिजनेस मैन, व्यापारी लोगो से बहुत लोग जुड़े होते है किसी को तनख्वाह, बिजनेस लेन देन के लिए कभी भी किसी भी वक्त रूपए की जरूरत हो जाती है इसलिए ये लोग करंट अकाउंट ओपेन कराते है ताकी कभी भी रूपए निकाल बाहर कर सके अगर बचत खाते कि बात किया जाए तो अनलिमिटेड जमा- बाहर बचत खाते मे नही किया जा सकता बचत खाते मे लिमिटेशन होती है! चालू खाते के लिए भी डेबिट, क्रेडिट कार्ड, चेक बूक के साथ-साथ मोबाईल बैंकिंग, नेटबैकिंग की सुविधा दी जाती है लेकिन चालू खाते मे जमा रूपए पर ब्याज नही मिलता है परंतू चालू खाते के लिए ऑभरड्राप्ट की फायदा अवश्य मिलता है ओवरड्राप्ट के अंतर्गत खाते मे जितना रूपए जमा है उससे भी अधिक निकाल सकते है!


सावधि खाता (Fixed Deposit Account) क्या है?


इस खाते के अंतर्गत आप एक छोट-मोटी रकम एक साल से दस साल के लिए एक बार मे डिपोजिट करा सकते है तय समय पर आपके डिपोजिट किया गया रूपए पर  क्रमश 7-8% ब्याज मिलता है जो कि बचत खाते मे मिलने वाला ब्याज से कही ज्यादा होता है! एक बात ध्यान देने योग्य बाते है आप इस खाते को ओपेन कराते है जो भी राशी जितना दिन के लिए फिक्सड कराते है समय पुरने पर ही निकालने मे फायदा होता है समय से पहले निकासी करने के स्थिति मे बैंक पेनाल्टी लगाती है तय किया गया ब्याज नही देता ब्याज जरूर देगा लेकिन तय किया गया ब्याज दर से कम ब्याज दर जोड़कर देगा!


आवर्ती जमा खाता (Recurring Deposit Account) क्या है?


पैसे वाले लोगो के पास बहुत ज्यादा पैसे होते है इसलिए वे लोग एक बार मे मोटी रकम निश्चित समय के लिए डिपोजिट करा सकता है इसी को ध्यान मे रखते हुए बैंक द्वारा आवर्ती जमा खाता (Rd Account) बनाया गया है इसलिए आवर्ती खाते के तहत कोई गरीब भी महिने मे छोटी छोटी रकम जमा करके मोटी रकम बना सकता है जिसपर ब्याज क्रमश सावधि खाता (Fd Account) के बराबर ही प्राप्त किया जा सकता है!


दोस्तो शायद आपको पता चल गया होगा बैंक खाता कितने प्रकार के खोले जाते है आम लोगो के लिए कौन सी खाता ओपेन कराना फायदेमंद है यदि अभी भी कोई कंफ्यूजन है तो कमेन्ट के जरिए पूंछ सकते है!

Post a Comment

Previous Post Next Post