सैलरी अकाउंट को सेविंग अकाउंट में कैसे बदलें?

सैलरी अकाउंट को सेविंग अकाउंट में कैसे बदलें (Salary Account Ko Saving Account Me Kaise Badle) जानने आये है तो आपको अच्छी तरह पता होगा सैलरी अकाउंट यानि वेतन खाता क्या होता है । जी हां सैलरी अकाउंट एक प्रकार का सेविंग अकाउंट ही होता है, जिसे कंपनी या संस्था की ओर से अपने यहां कार्य करने वाले कर्मचारियों का वेतन देने के लिए ओपेन कराया जाता है । कंपनी या संस्था के द्वारा कर्मचरियों का सैलरी अकाउंट आमतौर पर उसी बैंक में ओपन कराया जाता है, जिसमें कंपनी या संस्था का बैंक अकाउंट होता है और बैंकिंग लेनदेन करती है । अब सीधे मुद्दे पर बात किया जाए तो कुछ लोग अपनी सैलरी सेविंग अकाउंट को किसी कारणवश जेनरल सेविंग अकाउंट यानि वेतन बचत खाता को सामान्य बचत खाता में बदलने के लिए गुगल में सर्च करते है । अगर आप भी उन्हीं लोगों में से एक है तो पुरी आर्टिकल अवश्य पढ़ें ।



सैलरी अकाउंट को सेविंग अकाउंट में कैसे बदलें?
सैलरी अकाउंट को सेविंग अकाउंट में कैसे बदलें?




सैलरी अकाउंट को सेविंग अकाउंट में कैसे बदलें (Convert Salary Account To Savings Account)


सैलरी अकाउंट को सेविंग अकाउंट में बदलना बहुत ही आसान है, यानि संपष्ट सब्दों में बात किया जाए तो सैलरी अकाउंट होल्डर को कुछ करने की आवश्यकता नही पड़ती है, नौकरी बदलने के स्थिति में या कंपनी द्वारा 3 महीने से अधिक समय तक तनख्वाह सैलरी अकाउंट में जमा नही करने के क्रम में बैंक ऑटोमेटिक सैलरी अकाउंट को सेविंग अकाउंट में तब्दील कर देता है । एक बार जब सैलरी अकाउंट को सेविंग अकाउंट में बदल दिया जाता है तो सैलरी अकाउंट पर मिलने वाले सभी प्रकार के बेनिफिट्स भी समाप्त कर दिये जाते हैं, और जेनरल सेविंग अकाउंट वाले बेनिफिट्स मिलने लगते है ।




ये भी जानिए:-


बचत खाता किसे कहते हैं?

चालु खाता किसे कहते है?

सावधि खाता किसे कहते हैं?

आवर्ती खाता किसे कहते हैं?

सैलरी अकाउंट किसे कहते हैं?

माइनर अकाउंट किसे कहते हैं?

बैंक खाता कितने प्रकार के होते हैं?

चालु और बचत खाता में क्या अंतर है?

सावधि और आवर्ती खाता में क्या अंतर है?

सेविंग अकाउंट को करंट अकाउंट में कैसे बदलें?

सेविंग अकाउंट में कितना पैसा रख सकते है?

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post