पेमेंट बैंक क्या होता है जानिए इसकी विषेशताएं

पेमेंट बैंक क्या होता है और इसकी क्या विषेशताएं है जानने आये है तो आपका बहुत-बहुत स्वागत है, दोस्तों सबसे पहले संक्षेप में बताना चाहूँगा पेमेंट बैंक भारत में उपस्थित कमर्शियल बैंकों से अलग प्रकार के बैंक होते है, जिसमें कुछ प्रतिबंधों के साथ बैंकिंग सुविधाओ लाभ दिया जाता है । हमारे देश भारत में पेमेंट बैंकों के स्थापना के लिए भारतीय रिज़र्व बैंक द्वारा 24 नवम्बर 2014 को दिशा निर्देश जारी किया था, जिसके बाद जनवरी 2017 को एयरटेल टेलीकॉम कंपनी द्वारा देश में सबसे पहले पेमेंट बैंक की शुरुआत की गई थी, और अभी हमारें देश भारत में कुल 06 पेमेंट बैंक कार्यरत है । आईयें बिना देर किये सीधे मुद्दे पर बात करते है और जल्दी से विस्तारपूर्वक जानने की कोशिश करते है पेमेंट बैंक किसे कहते हैं और इसकी विषेशताएं एवं उद्देश्य क्या है?



पेमेंट बैंक क्या होता है और इसकी क्या विषेशताएं है
पेमेंट बैंक क्या होता है और इसकी क्या विषेशताएं है 




पेमेंट बैंक क्या है (What Is Payment Bank)


पेमेंट बैंक पारंपरिक बैंकों से कुछ अलग प्रकार के बैंक होते है, जिसमें कुछ प्रतिबंध अवश्य होते है, लेकिन पेमेंट बैंकों के द्वारा भी क्रमशः पारंपरिक बैंकों की तरह ही बैंकिंग सुविधाए मुहैय्या कराया जाता है, जिसमें कोई भी व्यक्ति आसानी से अपना खाता ओपेन कराकर बैंकिंग सुविधाओ का लाभ उठा सकता है । 



पेमेंट बैंकों की सूची (List Of Payment Banks)


देश के सर्वोच्च बैंक आरबीआई वेबसाइट के अनुसार पेमेंट बैंकों के नाम लिस्ट निम्नलिखित प्रकार है:-


1. एयरटेल पेमेंट बैंक (Airtel Payment Bank)

2. पेटीएम पेमेंट बैंक (Paytm Payment Bank)

3. जियो पेमेंट बैंक (Jio Payment Bank)

4. फिनो पेमेंट बैंक (Fino Payment Bank)

5. एनएसडीएल पेमेंट बैंक (NSDL Payment Bank)

6. इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (India Post Payment Bank)



पेमेंट बैंक के उद्देश्य (Objectives Of Payment Bank)


देश में पेमेंट बैंक को खोलने का उद्देश्य वित्तीय समावेशन को बढ़ावा देना है, ताकि बैंकिंग सुविधाओ से वंचित प्रत्येक गरीब, कम आय और छोटे-मोटे व्यवसाय वाले  लोगों को बैंकिंग सुविधाओ से जोड़ा जा सके ।



पेमेंट बैंक की विशेषताएं (Features Of Payment Banks)


1. पेमेंट बैंक कमर्शियल बैंक की तरह लगभग सभी बैंकिंग कार्य करता है, परंतु कमर्शियल बैंकों के अपेक्षा कुछ बैंकिंग कार्य प्रतिबंधों और सिमाओ के अंदर करता है:- 


2. पेमेंट बैंक में भी बचत खाता और चालू ओपेन कराने के उपरांत पैसे जमा कराया जा सकता है, किन्तु इसके लिए अधिकतम एक लाख रूपए ही सीमा निर्धारित है |


3. कमर्शियल बैंकों की तरह पेमेंट बैंकों द्वारा भी ग्राहकों को वर्चुअल डेबिट कार्ड या फिज़िकल डेबिट कार्ड जारी किया जाता है, लेकिन क्रेडिट कार्ड जारी नही करता है ।


4. पेमेंट बैंक में कोई भी भारतीय मूल के नागरिक अपना अकाउंट आसानी से ओपेन करा सकता है, लेकिन अन्य देश के नागरिकों का अकाउंट पेमेंट बैंक द्वारा नही खोला जाता है ।


5. सामान्य कमर्शियल बैंकों की तरह पेमेंट बैंक द्वारा भी अपने ग्राहको के जमा धन पर ब्याॅज दिया जाता है, परंतु पेमेंट बैंक ग्राहकों को ऋण जैसी सुविधाए उपलब्ध नहीं होती है ।


6. सामान्य कमर्शियल बैंक की तरह पेमेंट बैंक द्वारा भी चालू खाताधारकों को ओवरड्राफ्ट जैसी सुविधाए मुहैय्या कराया जाता है, जिसके तहत चालू खाताधारक अपने खाता में जमा धन से अधिक निकाल सकता है, और पेमेंट बैंक के नियमानुसार लिए गये राशि को समय पर वापस कर सकता है । 


7. भारत के सर्वोच्च बैंक भारतीय रिज़र्व बैंक से अनुमोदन प्राप्त कर पेमेंट बैंक अन्य कमर्शियल बैंकों की तरह ही  म्युचुअल फण्ड तथा इंश्योरेंस उत्पादों का डिस्ट्रीब्यूशन जैसी सहयोगी कार्य भी करता है ।


8. सामान्य कमर्शियल बैंकों की तरह पेमेंट बैंक भी अपने ग्राहकों को इंटरनेट बैंकिंग, मोबाइल बैंकिंग और विभिन्न प्रकार के बिल भुगतान करने जैसी सुविधा प्रदान करता है।




ये भी जानिए:-


फिनो का मालिक कौन है?

गूगल पे का मालिक कौन है?

फोन पे का मालिक कौन है?

पेटीएम बैंक का मालिक कौन है?

भारत में कुल कितने पेमेंट बैंक है?

भारत में कुल कितने प्राइवेट बैंक है?

भारत में कुल कितने सरकारी बैंक है?

भारत में कुल कितने विदेशी बैंक है?

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक का मालिक कौन है?

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post