करूर वैश्य बैंक सरकारी है या प्राइवेट (Karur Vysya Bank Sarkari Hai Ya Private)

करूर वैश्य बैंक सरकारी है या प्राइवेट? (Karur Vysya Bank Sarkari Hai Ya Private) जानने आयें है तो आपका बहुत-बहुत स्वागत है, दोस्तों करूर वैश्य बैंक एक निजी क्षेत्र का अनुसूचित वाणिज्यिक बैंक है, इस बैंक की शुरुआत अति कृष्णा चेट्टियारी, एम. ए. वेंकटराम चेट्टियारी के द्वारा 1916 को तमिलनाडु के करूर में स्थापित किया गया था । वर्तमान में इस बैंक की लगभग 782 से अधिक शाखाए और 2236 से अधिक एटीएम देश के 20 राज्यों और 3 केंद्र शासित प्रदेशों में मौजूद है, एवं 2016 के मुताबिक इस बैंक में 7,211 से अधिक कर्मचारी कार्यरत है, तथा इस बैंक द्वारा ग्राहकों को उपभोक्ता बैंकिंग, कॉर्पोरेट बैंकिंग, वित्त और बीमा, निवेश बैंकिंग, बंधक ऋण, निजी बैंकिंग, धन प्रबंधन, क्रेडिट कार्ड, आदि जैसी बैंकिंग सुविधाए प्रदान किया जा रहा है । अंतत: करूर वैश्य बैंक से संबंधित सामान्य जानकारी के लिए पुरी आर्टिकल को अवश्य पढ़े ।




करूर वैश्य बैंक सरकारी है या प्राइवेट (Karur Vysya Bank Sarkari Hai Ya Private)
करूर वैश्य बैंक सरकारी है या प्राइवेट (Karur Vysya Bank Sarkari Hai Ya Private)




1. करूर वैश्य बैंक की स्थापना कब हुई थी?


करूर वैश्य बैंक की स्थापना 1916 में हुई थी ।



2. करूर वैश्य बैंक सरकारी है या प्राइवेट?


करूर वैश्य बैंक एक प्राइवेट लिमिटेड बैंक है ।



3. करूर वैश्य बैंक का मुख्यालय कहाँ है?


करूर वैश्य बैंक का मुख्यालय करूर, तमिलनाडु, भारत में स्थित है ।



4. करूर वैश्य बैंक के संस्थापक कौन है?


करूर वैश्य बैंक के संस्थापक अति कृष्णा चेट्टियारी, एम. ए. वेंकटराम चेट्टियारी है ।



5. करूर वैश्य बैंक का सीईओ कौन है?


करूर वैश्य बैंक के सीईओ रमेश बाबु है । 



6. करूर वैश्य बैंक की कुल संपत्ति कितनी है?


2016 के मुताबिक करूर वैश्य बैंक की कुल संपत्ति 57,663.72 करोड़ रूपए से अधिक है ।






ये भी जानिए:- 


नैनीताल सरकारी है या प्राइवेट?

डीसीसी बैंक सरकारी है या प्राइवेट?

सीएसबी बैंक सरकारी है या प्राइवेट?

कर्नाटक बैंक सरकारी है या प्राइवेट?

धनलक्ष्मी बैंक सरकारी है या प्राइवेट?

आरबीएल बैंक सरकारी है या प्राइवेट?

सिटी यूनियन बैंक सरकारी है या प्राइवेट?

आईडीबीआई बैंक सरकारी है या प्राइवेट?

आईडीएफसी फर्स्ट बैंक सरकारी है या प्राइवेट?

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post