क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक क्या है? (What Is Regional Rural Banks In India)

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक क्या है? (What Is Regional Rural Banks In India) - यह बैंक शार्ट RRBs के नाम से भी जाना जाता है आज के समय में भारत में 43 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक कार्यरत हैं । प्रत्येक क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक राज्य सरकार और प्रायोजक बैंक के साथ भारत सरकार के निगरानी में कार्य करता है । क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक भारतीय अनुसूची वाणिज्यिक बैंक हैं और इन्हें हाइब्रिड माइक्रो बैंकिंग संस्थानों के रूप में डिजाइन किया गया है । इस बैक का मुख्य कार्य छोटे और सीमांत किसानों, ग्रामीण क्षेत्र के मजदूरों, कारीगरों को बैंकिंग सुविधाएँ और ऋण उपलब्ध कराना और साथ ही ग्रामीण क्षेत्रों में छोटे उद्यमियों को ऋण प्रदान करना । क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक की स्थापना खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में बैंकिंग संबंधित सुविधा पहुँचाने हेतू कि गई थी । क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक की जानकारी विस्तार से जानने के लिए संपूर्ण आर्टिकल को अवश्य पढे।



क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक की जानकारी
क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक




ये भी पढे- भारत का सबसे बड़ा बैंक कौन सा है?

ये भी पढे- भारत का पहला राष्ट्रीयकृत बैंक कौन है?




क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक क्या है?


क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (RRB) एक अनुसूची वाणिज्यिक बैंक है । क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक भारत सरकार के निगरानी में कार्य करता है और इस बैंक में राज्य सरकार, केन्द्र सरकार एवं प्रायोजक बैंक इन तीनो की हिस्सेदारी होती है ! वर्तमान समय में भारत में 43 कार्यरत क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक मौजूद है! 


क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के कार्य


  • बैंकिंग सुविधाये ग्रामीण और अर्ध - शहरी क्षेत्रों में उपलब्ध कराना क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक का कार्य है।


  • छोटे और सीमांत किसानों, कृषि मजदूरों, कारीगरों, सहकारी समितियों, छोटे उद्यमियों और छोटे साधनों वाले लोगो को ऋण उपलब्ध कराने का कार्य करता है।


  • महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी अधिनियम (नरेगा) के तहत श्रमिकों के मजदूरी के भुगतान का काम करता है।


  • पेंशन और अन्य सरकारी लाभों को ग्रामीण क्षेत्रों तक पहुँचाने का कार्य भी क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक करता है।


  • लॉकर की सुविधा, डेबिट कार्ड और क्रेडिट कार्ड की तरह पैरा-बैंकिंग सुविधाएं उपलब्ध कराने के कार्य क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के द्वारा प्रदान किया जाता है।



क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक से संबंधित कुछ अन्य सवाल


आईये जानते हैं ग्रामीण बैंक से जुड़ी कुछ अन्य जानकारीया जिसके बारें में खासकर स्टूडेंट्स से पूंछे जाते है और कुछ लोग जानने की कोशिश भी करते है।


भारत में क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक की संख्या कितनी है?


  •  दिसंबर 1975 - 6 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  •  दिसंबर 1980 - 85 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक 
  •  दिसंबर 1985 - 188 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  •  मार्च 1990 - 196 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  •  मार्च 2006 - 133 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  •  मार्च 2011 - 82 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  •  मार्च 2013 - 64 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  •  मार्च 2014 - 57 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  •  मार्च 2016 - 56 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  •  जनवरी 2019 - 45 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक
  •  अप्रैल 2020 - 43 क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक



क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक सरकारी है या प्राइवेट?


क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक में केन्द्र सरकार, राज्य सरकार और सार्वजनिक बैंको की हिस्सेदारी होती है तथा सार्वजनिक बैंक द्वारा ही प्रायोजित किया जाता है । इसलिए इस प्रायोजित क्षेत्रीय बैंक को सरकारी बैंक माना जा सकता है।


भारत का पहला ग्रामीण बैंक कौन सा था?


"प्रथमा बैंक" भारत का सबसे पहला ग्रामीण बैंक था। प्रधानमंत्री इंदिरा गाँधी द्वारा साल 1975 में ग्रामीण आबादी को बैंकिंग सुविधाये देने के उद्देश्य से शुरू किया गया था।


भारत में सर्वप्रथम क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक की स्थापना कब और कहां हुई थी?


भारत में सर्वप्रथम क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक स्थापना 26 सितंबर 1975 अध्यादेश और 1976 के RRB अधिनियम के प्रावधानों के तहत मुरादाबाद उत्तर प्रदेश में खोला गया था। जिससे कृषि और अन्य ग्रामीण क्षेत्रों के लिए बैंकिंग एवं ऋण सेवाएं प्रदान की जा सकें । क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक नरसिम्हा समिति की सिफारीश के तहत इंदिरा गांधी की सरकार के कार्यकाल में लागू किया गया था।


क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक का नियंत्रण कौन करता है?


क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों का नियंत्रण और देखभाल भारत सरकार, राज्य सरकारों एवं प्रायोजक बैंकों के सहयोग के द्वारा किया जाता है। क्योंकि इन बैंकों में भारत सरकार, प्रायोजक बैंकों और राज्यों की हिस्सेदारी क्रमशः 50%, 35% और 15% होती है।


बिहार में कुल कितने ग्रामीण बैंक है?


पहले बिहार में उत्तर बिहार ग्रामीण बैंक, मध्य बिहार ग्रामीण बैंक, दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक थे। हाल ही में मध्य बिहार ग्रामीण बैंक को दक्षिण ग्रामीण बैंक में मर्ज कर दिया गया है । अगर बिहार में दक्षिण बिहार ग्रामीण बैंक की कुल शाखाए की बात किया जाए तो वर्तमान समय में 1078 हो चूकी है।

Post a Comment

Previous Post Next Post