चालू खाता कितने प्रकार के होते हैं?

चालू खाता कितने प्रकार के होते हैं (Chalu Khata Kitne Prakar Ke Hote Hain) जानने आये हैं तो आपको अवश्य पता होगा, चालू खाता एक प्रकार का ऐसा बैंक खाता होता है, जिसे खासतौर पर व्यवसाय करने वाले व्यक्तियों या संस्थाओ द्वारा बैंक में खुलवाया जाता है, क्योंकि इस खाते का सबसे बड़ा फायदा ये है कि इसमें प्रतिदिन जमा-निकासी करने पर किसी प्रकार का प्रतिबंध नही होता है । यानि संपष्ट रूप में बात किया जाए तो चालू खाता विशेष रूप से व्यवसाय करने वाले लोगों और संस्थाओ के लिए बनाया गया है । लेकिन यह खाता कई प्रकार के होते हैं, जिसके बारें में विस्तारपूर्वक इस लेख में जानने की कोशिश करेंगे चालू खाता कितने तरह के होते हैं?



चालू खाता कितने प्रकार के होते हैं?
चालू खाता कितने प्रकार के होते हैं?




चालू खाता के प्रकार (Types Of Current Account In Hindi)


चालू खाता निम्नलिखित प्रकार के होते हैं-



1. प्रीमियम चालू खाता (Premium Current Account)


इस खाते के नाम से ही पता चलता है कि, खाताधारक के लिए बहुत सी अनुकूलित और विशिष्ट सुविधाएँ प्रदान करता है । इस प्रकार के खाता खाताधारक की आवश्यकता के मुताबिक लेन-देन के चयन के अनुरूप होता है, यानि प्रीमियम चालू खाता वैसे व्यक्तियों के लिए बेहतर होता है, जो उच्च स्तर के वित्तीय लेन-देन करने की इच्छा रखते हैं ।



2. मानक चालू खाता (Standard Current Account)


चालू खाते के महत्वपूर्ण प्रकारों में से एक मानक चालू खाता होता है, जिसे मूल जमा खाते के रूप में भी जाना जाता है । मानक चालू खाता एक गैर-ब्याज वाला खाता होता है, जिसमें कुछ विशिष्टताएँ होती हैं । यानि इस खाते में प्रत्येक महीने एक न्यूनतम औसत राशि बनाए रखने की अनिवार्यता होती है । लेकिन इस खाते के लिए असीमित लेनदेन, नेटबैंकिंग, एसएमएस बैंकिंग, चेकबुक, ओवरड्राफ्ट, डेबिट कार्ड, नो-कॉस्ट एनईएफटी, आरटीजीएस लेनदेन जैसी बैंकिंग सुविधाए मिलती है । 



3. पैकेज्ड चालू खाता (Packaged Current Account)


पैकेज्ड चालू खाता उन खाताओ में से एक है, जो प्रीमियम चालू खाता और मानक चालू खाता के बीच में होता है । पैकेज्ड चालू खाता को यात्रा बीमा, दुर्घटना बीमा आदि जैसी अतिरिक्त सुविधाओं और लाभो वाला मानक खाते से कही बेहतर माना जाता है । हालांकि, पैकेज्ड चालू खाता ग्राहक को एक संपूर्ण खाता फिट प्रदान करने के लिए प्रीमियम चालू खाते के अनुरूप नहीं होता है ।



4. विदेशी मुद्रा खाता (Foreign Currency Account)


विदेशी मुद्रा खाता मुख्य रूप से उन व्यवसायों के लिए होता है, जिन्हें प्रतिदिन विदेशी मुद्रा में बाहरी या आवक प्रेषण के लिए सहायता की आवश्यकता होती है । इस खाते की कार्यक्षमता की मूल बातें समान रहती हैं ।



5. सिंगल कॉलम कैश बुक (Single Column Cash Book)


यदि कोई व्यक्ति बैंक खाता बनाए बिना कोई व्यवसाय चला रहे हैं, तो सिंगल कॉलम कैश बुक खाता या साधारण नकद खाता उनके लिए बेहतर माना जाता है, क्योंकि इस तरह के खाते में ओवरड्राफ्ट जैसी सुविधा नहीं मिलती, लेकिन डेबिट और वित्त के क्रेडिट के दो अलग-अलग कॉलम के माध्यम से दैनिक लेन-देन की निगरानी और रखरखाव करने में सक्षम बनाती है ।




ये भी जानिए:-


डेबिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं?

एटीएम कार्ड कितने प्रकार के होते हैं?

क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं?

बचत खाता कितने प्रकार के होते हैं?

एटीएम मशीन कितने प्रकार के होते हैं?

बैंक अकाउंट कितने प्रकार के होते हैं?

SBI डेबिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं?

Post a Comment (0)
Previous Post Next Post