नाबार्ड के प्रथम अध्यक्ष कौन थे (NABARD Ke Pratham Adhyaksh Kaun The) जानने आये हैं तो आपको भलीभांति पता होगा, नाबार्ड हमारें देश भारत का एक वित्तीय शीर्ष संस्था है, जिसकी स्थापना बी. शिवरामन सिंह समिति की अनुशंसा पर केन्द्र सरकार ने 12 जुलाई 1982 ई. में किया था । नाबार्ड की शुरुआत महज 100 करोड़ रूपए से की गई थी, और इसके प्रथम अध्यक्ष श्री एम. रामकृष्णय्या को बनाया गया था । देश के इस उच्चतम शीर्ष संस्था में श्री एम. रामकृष्णय्या ने 1982 से लेकर 1984 के बीच अपनी सेवा प्रदान किये थे । अंतत नाबार्ड से संबंधित अन्य जानकारी के लिए संपूर्ण आर्टिकल को अवश्य पढ़िए ।




नाबार्ड के प्रथम अध्यक्ष कौन थे (NABARD Ke Pratham Adhyaksh Kaun The)
नाबार्ड के प्रथम अध्यक्ष कौन थे (NABARD Ke Pratham Adhyaksh Kaun The)





1. नाबार्ड का फुलफॉर्म क्या है?


नाबार्ड का फुलफॉर्म 'नेशनल बैंक फाॅर एग्रीकल्चर एंड रूरल डेवलपमेंट' है, जिसे हिंदी में राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक भी कहा जाता है ।



2. राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक की स्थापना कब हुई?


राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक की स्थापना 12 जुलाई 1982 में हुई थी ।



3. राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के मुख्यालय कहां है?


राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के मुख्यालय मुंबई, भारत में स्थित है ।



4. राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के प्रथम अध्यक्ष कौन थे?


राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के प्रथम अध्यक्ष श्री एम. रामकृष्णय्या थे ।


5. राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के वर्तमान अध्यक्ष कौन है?


राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के वर्तमान अध्यक्ष श्री सुचीन्द्र मिश्र है, इनसे पहले गोविंदा राजुलु चिंतला थे ।



6. राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के ओनर कौन है?


राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक के ओनर भारत सरकार है ।




ये भी जानिए:-


नाबार्ड के प्रमुख कार्य क्या है?

नाबार्ड की शुरुआत कब हुई थी?

नाबार्ड की स्थापना किसने किया?

नाबार्ड के वर्तमान अध्यक्ष कौन है?

नाबार्ड का मुख्यालय कहां स्थित है?

नाबार्ड के कार्यालय की संख्या कितनी है?

Post a Comment