पेटीएम वाॅलेट क्या है जानिए इसके फायदे

पेटीएम वाॅलेट क्या है आज के डिजीटल समय मे सबको अवश्य पता होनी चाहिए यदि आपको पता नही पेटीएम वाॅलेट के बारे मे तो बने रहे हमारे साथ हम विस्तार से पेटीएम वाॅलेट के विषय पर विस्तार से आपके समक्ष चर्चा करने जा रहे है दोस्तो सबसे पहले पेटीएम ऐप की बात किया जाए तो इस पेटीएम ऐप को विजय शेखर शर्मा द्वारा बनाया गया है शुरूआत मे पेटीएम ऐप को केवल मोबाइल रीचार्ज, डिटिएच रीचार्ज, बिजली बिल भुगतान, टिकट बुकिंग इत्यादि के उद्देश्य से बनाया गया था परंतू आपको याद होगा भारत मे सरकार द्वारा नोटबंदी किया गया था लोगो को पैसे लेने-देन करने के लिए परेशानीया उत्पन्न होने लगी पेटीएम ऐप का मालिक विजय शेखर शर्मा ने इसका भरपूर फायदा उठाया पेटीएम ऐप मे वाॅलेट की सुविधा जोड़ दिया पेटीएम वाॅलेट की बात किया जाए तो यह एक बटूआ के तरह है जिसमे पैसे ऐड करके रख सकते है किसी को पैसे देना या लेना हो तो इस पेटीएम वाॅलेट के इस्तेमाल से संभव है चलिए आगे और ज्यादा अच्छे तरीक़े से जानते है पेटीएम ऐप मे वाॅलेट क्या है इसके उपयोग के क्या-क्या फायदे है!



पेटीएम वाॅलेट क्या है जानिए इसके फायदे
पेटीएम वाॅलेट की जानकारी



ये भी पढे- पेटीएम पेमेंट बैंक क्या है?

ये भी पढे- एयरटेल पेमेंट बैंक क्या है?


नीचे पढे पेटीएम वाॅलेट क्या है?


पेटीएम वाॅलेट खासकर आम आदमी के लिए बनाया गया है पेटीएम वाॅलेट एक बटूए की तरह काम करता है इस वाॅलेट मे महीने मे दस हजार रूपए तक ऐड रख सकते है तथा छोटे-मोटे लेन-देन वाॅलेट के जरिए आदान-प्रदान आसानी से किया जा सकता है!


पेटीएम वाॅलेट के फायदे


  • पाॅकेट मे कैस लेकर चलने की जरूरत नही होता पेटीएम वाॅलेट मे पैसे ऐड रख सकते है तथा वाॅलेट के जरिए छोटे-मोटे रकम पेमेंट और किसी से वाॅलेट मे प्राप्त कर सकते है!


  • वाॅलेट के पैसे से मोबाइल रीचार्ज से लेकर किसी भी प्रकार के टिकट बुकिंग इत्यादि काम कर सकते है!


  • पेटीएम ऐप मे मोबाइल रीचार्ज, डिटिएच रीचार्ज, टिकट बुक, बिजली बिल भुगतान जैसे चीजो मे वाॅलेट से पेमेंट करने पर कैसबैक का लाभ मिलता है!


पेटीएम खाता कैसे बनाएं


पेटीएम ऐप प्लेस्टोर पर मौजूद है मोबाइल फोन मे इंस्टाॅल करने के बाद मोबाइल नंबर ईमेल आईडी द्वारा सबमिट करने के उपरांत पेटीएम खाता आसानी बनाया जाता है और पेटीएम वाॅलेट का उपयोग किया जाता है!

Post a Comment

Previous Post Next Post