DBT क्या है जानिए DBT का फूल फाॅर्म

DBT क्या है DBT का फूल फार्म और DBT के लाभ के बारे मे प्रत्येक भारतीय को जानना चाहिए जी हां दोस्तो DBT भारत सरकार द्वारा चलाई गई ऐसी स्कीम है जिसका फायदा आज के टाईम मे सभी भारतीय नागरिक को मिल रही है लेकिन अधिकांश लोगो को DBT के संदर्भ मे पता नही है चलिए जानते है सरकार द्वारा चलाई गई यह स्कीम डीबीटी क्या है इसका फूल फार्म और DBT का लाभ किस तरह लोगो को मिल रही है जानने के लिए संपूर्ण आर्टिकल को अवश्य पढ़े तभी आप बेहतर ढंग से DBT के बारे मे समझ पाएंगे!


DBT क्या है जानिए DBT का फूल फाॅर्म
DBT क्या है जानिए DBT का फूल फाॅर्म



ये भी पढे- NPCI क्या है कैसे काम करता है?

ये भी पढे- UPI क्या है कैसे काम करता है?


DBT क्या है?


आपको याद होगा पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी ने कहा था सरकार गांव मे बैठे गरीबो के कल्याण हेतू अगर एक रूपए भेजती है तो उसे पंद्रह पैसे प्राप्त होता है उनका कहना साफ तौर पर था बीच वाले भ्रष्ट अधिकारी पैसे खा जाते है पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गाँधी के इसी बात को अम्ल हुए कांग्रेस सरकार द्वारा बने प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह ने वर्ष 1 जनवरी 2013 मे DBT का स्थापना किये दोस्तो अगर DBT का फूल फार्म की बात किया जाए तो DBT का मतलब DIRECT BENEFIT TRANSFER जिसे हिंदी मे प्रत्यक्ष हस्तांतरित लाभ भी कहा जाता है सरकार की इस स्कीम के तहत लाभाथी को डाईरेक्ट उनके खाते मे पैसा भेजने की योजना था!


DBT योजना क्या है?


जैसा कि आपलोग जानते होगे सरकार द्वारा गरीब के लिए आवास बनाने की पैसा, छात्रो के लिए छात्रवृत्ति, किसान सम्मान निधि योजना, वृधा पेंशन, एलपीजी सब्सिडी और अन्य विभिन्न प्रकार के सरकारी योजनाओ मे सरकार द्वारा DBT मतलब सीधे सीधे सामने वाले व्यक्ति के बैंक अकाउंट मे पैसे भेज दिये जाते है बीच वाले भ्रष्ट व्यक्ति को पैसे खाने का गुजांइश नही होता है!


DBT योजना सफल शुभारंभ


दोस्तो जैसा की आप समझ गए होंगे DBT डाईरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर की शुरुआत प्रधानमंत्री डा. मनमोहन सिंह सरकार द्वारा भले ही कर दिया गया था लेकिन पूरी तरह सफल नही हुआ था क्योंकि हमारे भारत मे जनसंख्याओ की कमी नही है 80% लोगो के पास बैंक अकाउंट नही थे जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदीजी ने जन-धन खाता के अंतर्गत सभी का बैंक अकाउंट ओपेन कराये तो अब DBT योजना सफल बनते दिख रही है क्योंकि जन-धन खाते के अंतर्गत गरीब से गरीब बच्चे बुढे प्रत्येक आदमी के पास बैंक मे खाता है तथा सरकार अब अपनी कोई भी योजना का पैसा डाईरेक्ट आम लाभार्थी के अकाउंट मे पैसे भेज देती है! हाल ही मे आपको पता होगा केन्द्र सरकार द्वारा कोरोना सहायता 1500 रूपए तीन किस्तो मे 500-500 रूपए दिये जा रहे थे ये DBT के तहत ही पैसे भेजे गये थे!


DBT योजना का लाभ कैसे प्राप्त करे


सरकार के DBT का लाभ उठाने के लिए सर्वप्रथम अपना आधार कार्ड अपने बैंक अकाउंट से लिंक कराकर अवश्य रखे क्योंकि बैंक अकाउंट से आधार लिंक होना जरूरी होता है सरकार आधार डाटा के जरिए ही पैसे ट्रांसफर करती है आपने गौर किया होगा एलपीजी गैस सब्सिडी प्राप्त करने के लिए आपने बैंक अकाउंट से आधार लिंक कराया होगा उसके बाद ही अब गैस लेते होगे तो सब्सिडी प्राप्त होगा! यदि आधार बैंक अकाउंट से लिंक है तो अच्छी बात है यदि नही है तो बैंक अकाउंट से आधार लिंक जरूर कराये तभी आप सरकारी द्वारा मिलने वाले अनेक जन कल्याण योजनाओ लाभ का पैसा सिधे अपने बैंक अकाउंट मे प्राप्त कर पाएंगे!

Post a Comment

Previous Post Next Post